Ticker

99/recent/ticker-posts

Zomato: 78 फीसदी शेयरों का लॉक-इन खत्म, एक्सपर्ट्स ने जताई बड़ी गिरावट की आशंका

 

हाइलाइट्स

जोमैटो (Zomato) के 78 फीसदी शेयरों का लॉक-इन पीरियड अगले सप्ताह खत्म हो रहा है.

एंकर निवेशकों के लॉक-इन समाप्त होने पर एक दिन में 8 फीसदी गिरा था स्टॉक.

जोमैटो ने आईपीओ में निवेशकों को 76 रुपये के शेयर आवंटित किए थे.

नई दिल्ली. जोमैटो (Zomato) के 78 फीसदी शेयरों का लॉक-इन पीरियड अगले सप्ताह खत्म हो रहा है. ऐसे में विश्लेषक आशंकित हैं कि कंपनी के शेयरों में बिकवाली का प्रेशर बन सकता है. यदि ऐसा होता है तो वर्तमान स्तर से टूटकर यह शेयर और नीचे चला जाएगा. आज मंगलवार की क्लोजिंग में जोमैटो का शेयर NSE पर 0.65 फीसदी की बढ़त के साथ 53.95 रुपये पर बंद हुआ है, हालांकि यह अपना कल का हाई तोड़ नहीं पाया.

बता दें कि लॉक-इन पीरियड कुछ खास निवेशकों के लिए होता है. जब भी किसी स्टॉक के बड़े प्रतिशत का लॉक-इन समाप्त होता है तो वे निवेशक अपने शेयर्स को बेच सकते हैं. उससे पहले वे अपने शेयर बेच नहीं सकते. ऐसे में यदि निवेशक उस शेयर को बेचना शुरू कर दें तो बड़ी गिरावट आ सकती है. परंतु यह जरूरी नहीं कि निवेशक अपने शेयर बेच ही दें.

कीमत पर पड़ सकता है बुरा असर

मनीकंट्रोल की एक खबर के मुताबिक, इनगवर्न के संस्थापक और एमडी श्रीराम सुब्रमण्यम ने कहा, ‘इस कंपनी में कोई प्रमोटर नहीं है. संस्थापकों सहित सभी शेयरधारकों की इसमें 77.87 प्रतिशत हिस्सेदारी है. 23 जुलाई को लॉक-इन अवधि समाप्त होने के बाद ये शेयरधारक अपने शेयर बेचने के लिए स्वतंत्र होंगे. उन्हें कोई खुलासा नहीं करना होगा. इसका शेयर की कीमतों पर बड़ा असर पड़ सकता है.” उन्होंने कहा कि जब एंकर निवेशकों के लिए लॉक-इन अवधि समाप्त हो गई थी, तो स्टॉक में केवल एक दिन में 8 फीसदी की गिरावट आई थी.

इसलिए है और नीचे जाने की आशंका

इक्विनॉमिक्स रिसर्च एंड एडवाइजरीग्राम के संस्थापक जी चोकालिंगम ने कहा, “खुदरा निवेशकों के लिए यह देखना महत्वपूर्ण है कि पीई/वीसी निवेशक किस कीमत पर आए हैं. अगर जोमैटो के शेयरों का उनका खरीद मूल्य मौजूदा कीमत से बहुत कम था, तो वे मंदी की स्थिति में बाजार में मुनाफावसूली करना चाहेंगे.” उन्होंने कहा, “चूंकि कई निवेशकों के लिए शेयर खरीदने की लागत बहुत कम थी, जिससे उन्हें मुनाफावसूली करने का मौका मिलेगा. इसलिए, मेरा मानना ​​है कि 23 जुलाई के बाद स्टॉक के नीचे जाने की अधिक संभावना है.”

76 रुपये पर हुआ था आवंटित

Zomato का शेयर पिछले साल 23 जुलाई 2021 को शेयर बाजार में लिस्ट हुआ था. इसकी बहुत अच्छी लिस्टिंग थी. जोमैटो ने आईपीओ में निवेशकों को 76 रुपये के शेयर आवंटित किए. कंपनी का शेयर बीएसई पर 51 फीसदी प्रीमियम के साथ 115 रुपये पर लिस्ट हुआ था. उसके बाद भी शेयरों में तेजी का सिलसिला जारी रहा. बीएसई पर शेयर की कीमत 169 रुपये के सर्वकालिक उच्च स्तर पर पहुंच गई थी. इसकी कंपनी का बाजार पूंजीकरण 1 लाख करोड़ रुपये के स्तर को पार कर गया था.

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ