Ticker

99/recent/ticker-posts

Sensex-Nifty में आई जोरदार तेजी, जानिए बाजार को कहां से मिल रहा सपोर्ट

 

इस हफ्ते निफ्टी के लिए ऊपर की तरफ 16150 – 16250 पर रजिस्टेंस दिख रहा है। अगर निफ्टी इस बाधा को तोड़ पाता है तो फिरबाजार में हमें बड़ी खरीदारी आती दिख सकती है

अच्छे ग्लोबल संकेतों के दम पर बाजार आज अपना वन-वीक हाई छूता नजर आया है। सेंसेक्स आज 543.75 अंक यानी 1.01 फीसदी की बढ़त के साथ 54304.53 के स्तर पर और निफ्टी 164.30 अंक यानी 1.02 फीसदी की तेजी के साथ 16213.50 के स्तर को छूता दिखा है। 12: 38pm के आसपास करीब 2192 शेयरों में तेजी देखने को मिल रही थी। वहीं, 950 शेयरों में गिरावट देखने को मिल रही थी। जबकि 136 शेयरों में कोई बदलाव नहीं हुआ था।

आज के कारोबार में IT और metal स्टॉक्स में जोरदार तेजी देखने को मिल रही है। आईटी और मेटल इंडेक्स 2-3 फीसदी तेजी दिखा रहे हैं। आज इंडस्ट्रियल मेटल्स की कीमतों में भी तेजी आती दिखी है। चीन के रेग्यूलेटर की तरफ से देश के रियल इस्टेट सेक्टर को संभावित मुश्किल से बचाने के लिए उठाए गए कदम के बाद मेटल की कीमतों में आज अच्छी तेजी आती नजर आई। गौरतलब है कि रियल एस्टेट सेक्टर इंडस्ट्रियल मेटल की बहुत बड़ा उपभोक्ता है।

Geojit Financial Services के वी के विजयकुमार का कहना है कि एफआईआई के अस्थिर व्यवहार के साथ ही नियर टर्म में बाजार में भारी उतार-चढ़ाव बने रहने की संभावना है। विदेशी संस्थागत निवेशकों ने इस महीने 3 दिन खरीदारी की है तो अगले दूसरों दिनों में बिकवाली की है। गिरावट में रिटेल और घरेलू संस्थागत निवेशकों की तरफ से आई खरीदारी के चलते बाजार में तेजी की संभावना है। बाजार में एक अहम बदलाव देखने को मिल रहा है। अब बाजार की लीडरशिप आईटी और बैंकिंग के हाथ से निकलकर खपत आधारित FMCG और ऑटो जैसे सेक्टरों के हाथ में आ रही है। बाजार ने लीडरशिप के इस बदलाव में निवेशक अपने पोर्टफोलियो में हल्का उलटफेर करने पर विचार कर सकते हैं।

आइए उन कारणों पर नजर डालें जिनकी वजह से आज बाजार में रैली आती दिखी है।

पॉजिटिव ग्लोबल संकेत

शुक्रवार को अमेरिकी बाजार बढ़त के साथ बंद हुए थे। अमेरिकी बाजारों को अच्छे नतीजों, मजबूत इकोनॉमी डेटा और फेडरल रिजर्व द्वारा ब्याज दरों में बहुत आक्रामक बढ़ोतरी ना करने की उम्मीद के चलते सपोर्ट मिला। शुक्रवार को Dow Jones 658.09 अंक यानी 2.15 फीसदी बढ़कर 31,288.26 के स्तर पर बंद हुआ। वहीं S&P 500 72.78 अंक यानी 1.92 फीसदी बढ़कर 3,863.16 के स्तर पर बंद हुआ जबकि Nasdaq 201.24 अंक यानी 1.79 फीसदी की बढ़त के साथ 11,452.42 के स्तर पर बंद हुआ।

एशियाई बाजार में भी हरियाली देखने को मिल रही है। Hang Seng और Kospi 2 फीसदी ऊपर नजर आ रहे है जबकि SGX Nifty 199.50 अंक की बढ़त के साथ 16,239.50 के स्तर पर नजर आ रहा है.

पॉजिटिव यूएस इकोनॉमिक डेटा 

शुक्रवार को जारी अमेरिकी इकोनॉमी डेटा पॉजिटिव सरप्राइस के रुप में आए हैं। अमेरिका में खुदरा बिक्री उम्मीद से बेहतर रही है। इसके अलावा कंज्यूमर सेंटिमेंट में भी सुधार हुआ है। इंपोर्ट प्राइस में भी नरमी आई है। इसके अलावा महंगाई के अनुमान में भी कमी आई है। पिछले महीने अमेरिका में जून में खुदरा बिक्री 1 फीसदी की बढ़ोतरी देखने को मिली है।

आईटी, मेटल शेयरों में जोरदार तेजी

आईटी सेक्टर में आज 3 फीसदी से ज्यादा की तेजी देखने को मिली। Infosys और Tech Mahindra में 4 फीसदी की तेजी आई है। इसी तरह TCS, HCL Tech और Wipro में 2 फीसदी की बढ़ोतरी देखने को मिली है। मेटल स्टॉक आज के टॉप गेनरों में रहे है। Tata Steel, NALCO, Hindalco, Vedanta, SAIL and Hindustan Zinc में 2-3 फीसदी की तेजी आई है। वहीं JSW Steel और Jindal Steel & Power में भी जबरदस्त तेजी आई है।

टेक्निकल व्यू

ANGEL ONE के समीत चव्हाण का कहना है कि टेक्निकल नजरिए से देखें तो इस हफ्ते निफ्टी के लिए 15850 –15950 का स्तर काफी अहम रहेगा। अगर ग्लोबल मार्केट का सपोर्ट मिलता है तो हमें बाजार में और तेजी आती दिखेगी। ऐसे में हमें बाजार को लेकर तब तक पॉजिटिव रहना चाहिए जब तक निफ्टी इन स्तरों के नीचे नहीं जाता है। दूसरी तरफ बाजार के लिए कई चुनौतियां भी हैं जो इसपर ऊपरी स्तरों पर दबाव बना रहीं हैं। इस हफ्ते निफ्टी के लिए ऊपर की तरफ 16150 – 16250 पर रजिस्टेंस दिख रहा है। अगर निफ्टी इस बाधा को तोड़ पाता है तो फिरबाजार में हमें बड़ी खरीदारी आती दिख सकती है।

फिलहाल अभी के लिए बाजार में पोजीशन हल्की रखने और मोमेंटम ट्रेडिंग के लिए सही थीम पहचानने की सलाह होगी। अब तक बैंकिंग और आईटी में सुस्ती रही है। लेकिन किसी तेजी के लिए इनकी भागीदारी जरूरी होगी। इसके अलावा शुक्रवार के कारोबार में ब्रॉडर मार्केट से कुछ अच्छे संकेत मिले थे। निफ्टी मिडकैप इंडेक्स 6 हफ्ते के हाई पर बंद हुआ था। इस समय ट्रेडरों को कैश सेग्मेंट पर भी फोकस रखना चाहिए।इनमें आगे ट्रेंडिंग के बेहतर मौके मिलेंगे।

Mehta Equities के प्रशांत तापसे का कहना है कि इनवेस्टर्स का मानना है कि फेड 27 जुलाई को होने वाली अपनी अगली मीटिंग में 0.75 फीसदी की बढ़ोतरी कर सकता है। बता दें कि इससे पहले अनुमान लगाया जा रहा था कि फेड जुलाई की मीटिंग में अपने दरों में 1 फीसदी की बढ़ोतरी कर सकता है। इसके अलावा वीकेंड के दौरान आए एचडीएफसी बैंक के मजबूत नतीजे और कच्चे तेल की कीमतें 97 डॉलर से नीचे आना भी बाजार के लिए शुभ संकेत हैं।

टेक्निकल नजरिए से देखें तो निफ्टी के लिए पहला लक्ष्य 16321 और उसके बाद दूसरा बड़ा लक्ष्य 16500 पर नजर आ रहा है। वहीं अगर निफ्टी 15851 के नीचे फिसलता है तो इसमें और कमजोरी आ सकती है।


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ