Ticker

99/recent/ticker-posts

IMF और पाकिस्तान के बीच 1.17 अरब डॉलर के फंड को लेकर हुआ समझौता, बोर्ड की मंजूरी मिलने का इंतजार

 

अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) ने गुरुवार को कहा कि उसकी पाकिस्तान (Pakistan) के साथ स्टाफ के स्तर पर समझौता हो गया है. रॉयटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक, अगर आईएमएफ के बोर्ड की मंजूरी मिलती है, तो पाकिस्तान को 1.17 अरब डॉलर का फंड (Fund) मिल सकेगा. बढ़ी हुई वित्तीय (Finance) जरूरतों को पूरा करने के लिए, 
आईएमएफ बोर्ड जून 2023 के आखिर तक EFF को बढ़ाने पर भी विचार करेगा. इसके साथ आईएमएफ करीब 1 अरब डॉलर के अतिरिक्त फंड पर भी विचार करेगा, जिससे प्रोग्राम के तहत कुल राशि करीब 7 अरब डॉलर तक पहुंच जाएगी.

पाकिस्तान के आर्थिक हालात खराब

रिपोर्ट के मुताबिक, आईएमएफ टीम की अगुवाई करने वाले Nathan Porter ने कहा कि पाकिस्तान एक चुनौतीपूर्ण आर्थिक स्थिति में मौजूद है. उन्होंने एक बयान में कहा कि मुश्किल बाहरी माहौल और घरेलू नीतियों की मदद से डिमांड बेहद बेकाबू स्तर पर पहुंच गई है. उन्होंने आगे कहा कि इनकी वजह से वित्त वर्ष 2022 में बड़ा फिजकल डेफेसिट हुआ है, जिससे महंगाई बढ़ी है.

जिन नीतिगत कदमों पर सहमति हुई है, उनमें वित्त वर्ष 2023 बजट के तेज रफ्तार के साथ कार्यान्वयन शामिल है, जिसका मकसद सरकार की बड़ी कर्ज की जरूरतों को घटाना और ज्यादा आय वाले टैक्सपेयर्स को टार्गेट करके रेवेन्यू को प्रोत्साहन देना है. इसके साथ विकास पर खर्च की भी सुरक्षा करना है.

पाकिस्तान को महंगाई घटाने की जरूरत
रॉयटर्स के मुताबिक, पाकिस्तान को ऊर्जा क्षेत्र में सुधारों पर भी काम करने की जरूरत है. इसके साथ पाकिस्तान को महंगाई को घटाने के लिए बेहतर मॉनेटरी पॉलिसी पर काम करना होगा. पाकिस्तान को गरीबी घटाने के लिए भी काम करने की जरूरत है. देश के वित्त मंत्री ने ब्रॉडकास्टर Geo को पहले बताया था कि आईएमएफ के साथ बातचीत खत्म हो गई है और इसके संबंध में जल्द ऐलान किया जा सकता है.

आपको बता दें कि पाकिस्तान में कई महीनों से आर्थिक सकंट बना हुआ है. जिसके तहत बीते दिनों कुछ दिनों से पाकिस्तान के आर्थिक सकंट के बढ़ने लगे हैं. सोमवार को देश के आंतरिक मंत्री राणा सनाउल्लाह ने अपने देश की बिगड़ती स्थिति पर अफसोस जताया और धमकी भरे अंदाज में यह कहा कि पाकिस्तान एक परमाणु देश है जिसकी अच्छी आर्थिक सेहत पूरी दुनिया के हित में है.

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ