Ticker

99/recent/ticker-posts

500 करोड़ टर्न ओवर की कंपनी बताकर 160 लोगों को लगाया चूना, शेयर देने के नाम पर ऐंठे 39 करोड़

 

गुजरात में निवेश पर आकर्षक रिटर्न का झांसा देकर 160 लोगों के साथ 39 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी (Investment Fraud) का मामला सामने आया है . बनासकांठा (Banaskantha) के पालनपुर के एक व्यवसायी ने बुधवार को नोएडा के एक व्यक्ति के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई, जिसमें आरोप लगाया गया कि उसने निवेश पर आकर्षक रिटर्न का वादा करके गुजरात के लगभग 160 लोगों को धोखा दिया (Financial Fraud Case) और 2018 और 2021 के बीच उनके साथ 39 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी की.

सीआईडी ​​(अपराध), अहमदाबाद क्षेत्र में दर्ज एक प्राथमिकी के अनुसार, बनासकांठा के पालनपुर तालुका के सूरजपुरा गांव के निवासी अमरीश पंचसरा ने कहा कि वह और उसका दोस्त रोहित पटेल निवेश के अवसरों की तलाश कर रहे थे, जब उन्हें सोशल मीडिया पर एक कंपनी के बारे में पता चला. कंपनी वसीम खान नाम का शख्स चालाता था जिसका मुख्यालय नोएडा में है. पंचसारा ने कहा कि खान ने 2018 में उनसे संपर्क किया और निवेश करने के छह महीने बाद उन्हें 10% से 15% मासिक ब्याज देने का वादा किया. खान ने पंचसारा को बताया कि वह सशस्त्र बलों के लिए टी-शर्ट बनाने वाली एक कंपनी चलाता है और उसकी एक अन्य कंपनी ऑनलाइन रिटेल प्लेटफॉर्म पर पंजीकृत है. पंचसरा ने कहा कि उन्होंने और रोहित पटेल ने पहले 2.50 लाख रुपये का निवेश किया और रिटर्न भी प्राप्त किया.

लोगों को निवेश करने के लिए राजी करने पर शेयर की पेशकश

मार्च 2019 से जून 2019 के बीच पंचसरा और दो अन्य ने खान की कंपनी में 30 लाख रुपये का निवेश किया. प्राथमिकी में उन्होंने बताया कि खान ने पालनपुर और गुजरात के अन्य स्थानों में कंपनी के लिए डीलरशिप स्थापित करने पर आकर्षक रिटर्न का वादा किया था. उन्होंने कहा कि खान ने उन्हें अपनी कंपनी में शेयरों की पेशकश की अगर वे दूसरों को कंपनी में निवेश करने के लिए राजी करते हैं. पंचसरा ने कहा कि खान ने उन्हें बताया कि उनकी कंपनी का टर्नओवर 500 करोड़ रुपये है.

100 करोड़ रुपये के शेयर देने का वादा

पंचसारा ने कहा कि खान ने उनसे कहा कि अगर पंचसारा और उनके दो व्यापारिक साझेदारों ने उन्हें 500 करोड़ रुपये का निवेश दिलाया तो वह उन्हें 100 करोड़ रुपये के शेयर देंगे. कोविड -19 महामारी की चपेट में आने के बाद, खान ने कुछ समय के लिए कोई ब्याज भुगतान नहीं किया और निवेशकों को भुगतान भी अनियमित था. शिकायत में कहा गया कि जब उसने भुगतान के लिए कहा, तो खान ने उसे धमकी दी. उन्होंने कहा कि खान और उनके सहयोगियों ने राज्य के 160 निवेशकों से कुल 39.33 करोड़ रुपये लिए, जिसे उन्होंने वापस नहीं किया और न ही उन्होंने ब्याज का भुगतान किया. मामले में पुलिस ने खान और पांच अन्य के खिलाफ उकसाने, आपराधिक साजिश, विश्वास भंग, धोखाधड़ी, जालसाजी और आपराधिक धमकी की शिकायत के साथ गुजरात प्रोटेक्शन ऑफ इंटरेस्ट ऑफ डिपॉजिटर्स (वित्तीय प्रतिष्ठान) अधिनियम के तहत केस दर्ज किया है.

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ