Ticker

99/recent/ticker-posts

डेनमार्क की डेनिश लाइफ साइंसेज कंपनी को खरीदेगी इंफोसिस? जानिए कितने करोड़ का हुआ सौदा

 

भारत की दूसरी सबसे बड़ी आईटी कंपनी इंफोसिस विदेशों में, खासकर यूरोप में अपने कारोबार का आक्रामक रूप से विस्तार कर रही है। कंपनी इस संबंध में एक नई डील करने जा रही है। इस सौदे में इंफोसिस डेनिश लाइफ साइंस कंपनी बेस लाइफ साइंस को खरीदने जा रही है। इंफोसिस ने खुद बुधवार को शेयर बाजारों के सामने इस सौदे का खुलासा किया।

इंफोसिस ने कहा कि यह डील करीब 110 मिलियन यूरो यानी 875 करोड़ रुपये में होने वाली है। यह सौदा न केवल यूरोप में इंफोसिस की स्थिति को मजबूत करेगा, बल्कि जीवन विज्ञान क्षेत्र में इसके अनुभव को भी बढ़ाएगा। इंफोसिस के अध्यक्ष रवि कुमार ने सौदे के बारे में कहा, ‘इस सौदे से जीवन विज्ञान क्षेत्र में इन्फोसिस की विशेषज्ञता मजबूत होगी। इससे कंपनी को नॉर्डिक क्षेत्र सहित पूरे यूरोप में अपनी उपस्थिति का विस्तार करने और क्लाउड-आधारित उद्योग समाधानों की डिजिटल परिवर्तन क्षमता का विस्तार करने में मदद मिलेगी। हम इंफोसिस परिवार में बेस लाइफ साइंसेज और इसकी नेतृत्व टीम का स्वागत करते हुए उत्साहित हैं।

इंफोसिस ने कहा कि यह सौदा वित्त वर्ष 2022-23 (FY23) की दूसरी तिमाही में पूरा किया जा सकता है। बेस के अधिग्रहण से इंफोसिस को कई फायदे होंगे। कंपनी ने कहा, ‘डेटा साइंस विशेषज्ञों की एक टीम BASE को आधुनिक प्रौद्योगिकी विकास और रुझानों में सबसे आगे रखती है। आधार का डेटा और एआई पर मजबूत फोकस है। कंपनी के पास व्यावसायिक तर्क और प्रौद्योगिकी के बीच की खाई को पाटने और उन्हें एकीकृत करने की क्षमता है।

बेस लाइफ साइंसेज की वर्तमान में डेनमार्क, स्विट्जरलैंड, यूके, जर्मनी, फ्रांस, इटली और स्पेन में उपस्थिति है। वर्तमान में लगभग 200 उद्योग विशेषज्ञ कंपनी से जुड़े हुए हैं। इंफोसिस के साथ इस सौदे के बाद, बेस लाइफ साइंसेज उपभोक्ता स्वास्थ्य, पशु स्वास्थ्य, मेडटेक और जीनोमिक्स जैसे क्षेत्रों में अपने पोर्टफोलियो का विस्तार करेगी। बेस लाइफ साइंसेज के सीईओ मार्टिन वारगार्ड ने कहा, “इन्फोसिस के लिए उत्प्रेरक बनकर, हम अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपने विस्तार में तेजी लाने और अपने लोगों के लिए विकास के अवसर पैदा करने में सक्षम होंगे।”

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ