Ticker

99/recent/ticker-posts

Taking Stock : वीकली एक्सपायरी के दिन बढ़त पर बंद हुआ बाजार, जानिए कल कैसी रह सकती है इसकी चाल

 


Geojit Financial Services के विनोद नायर का कहना है कि बाजार में आए बाउंस से यह संकेत मिलता है कि मिड और स्मॉलकैप से बाजार को सपोर्ट बढ़ रहा है

कच्चे तेल और गैस की कीमतों में गिरावट के बीच 2 जून को भारतीय बाजार बढ़त के साथ बंद होने में कामयाब रहे। आईटी और मेटल स्टॉक्स से बाजार को सबसे ज्यादा सपोर्ट मिला। कारोबार के अंत में सेंसेक्स 436.94 अंक यानी 0.79 फीसदी की बढ़त के साथ 55,818.11 के स्तर पर बंद हुआ। वहीं निफ्टी 105.25 अंक यानी 0.64 फीसदी की तेजी के साथ 16,628.00 के स्तर पर बंद हुआ।

Geojit Financial Services के विनोद नायर का कहना है कि बाजार में आए बाउंस से यह संकेत मिलता है कि मिड और स्मॉलकैप से बाजार को सपोर्ट बढ़ रहा है। जीएसटी क्लेक्शन और पीएमआई जैसे हाई फ्रिक्वेंसी डेटा ने वित्त वर्ष 2023 के अच्छे शुरुआत के संकेत दिए हैं। इसके अलावा कच्चे तेल की कीमतों में भी गिरावट आई है जिससे आज भारतीय बाजारों में जोश आता दिखा।

उन्होंने आगे कहा कि आगे आने वाले दिनों में बहुत कुछ भारत और अमेरिका में केद्रीय बैंकों की नीतियों पर निर्भर करेगा। यूएस फेड और रिजर्व बैंक अगले 2 हफ्तों में अपनी पॉलिसी मीट करेंगे।

शुक्रवार को कैसी रह सकती है बाजार की चाल

Kotak Securities Ltd के श्रीकांत चौहान का कहना है कि टेक्निकल नजरिए से देखें तो सुस्त शुरुआत के बाद निफ्टी ने 16450 के करीब सपोर्ट लिया और यहीं से ट्रेन्ड बदलता नजर आया। इंट्राडे चार्ट पर एक प्रॉमिसिंग रिवर्सल फॉर्मेशन और डेली चार्ट पर एक लॉन्ग बुलिश कैंडल बाजार में और तेजी आने के संकेत दे रहे हैं। ड्रे ट्रेडरों के लिए 16,550 का स्तर ट्रेंड डिसाइडर का काम करेगा। अगर यह लेवल टूट जाता है तो फिर निफ्टी में आगे की तरफ 16720 का स्तर देखने को मिल सकता है। अगर यह मजबूती और आगे बढ़ती है तो निफ्टी 16800 तक जाता नजर आ सकता है। वहीं दूसरी तरफ अगर निफ्टी 16,550 के नीचे फिसलता है तो यह गिरावट 16,450 की तरफ जा सकती है।

Hem Securities के मोहित निगम का कहना है कि बैकों की तरफ से NBFC को दिए जाने वाले क्रेडिट में 2022 में डबल डिजिट ग्रोथ की खबर के आने के बाद बाजार में मजबूती आती देखने को मिली। अलग-अलग सेक्टर पर नजर डालें तो आज एविशन इंडस्ट्री फोकस में रही। एविएशन टरबाइन फ्यूल की कीमतों में गिरावट के चलते एविएशन सेक्टर में जोश में रहा। अब निफ्टी के लिए 16700 पर रजिस्टेंस नजर आ रहा है। वहीं 16400 पर नीचे की तरफ सपोर्ट नजर आ रहा है जबकि बैंक निफ्टी के लिए 36,200 पर रजिस्टेंस और 35000 पर सपोर्ट नजर आ रहा है।

HDFC Securities के दीपक जसानी का कहना है कि SBI रिसर्च ने अपने एक नोट में कहा है कि वित्त वर्ष 2022-23 में भारत की इकोनॉमी 7.5 फीसदी की दर से ग्रोथ करेगी। एसबीआई ने अपने पिछले अनुमान की तुलना में नए अनुमान में 20 बेसिस प्वाइंट की बढ़ोतरी की है। आज अधिकांश एशियाई बाजारों में कमजोरी देखने को मिली। वहीं यूरोपियन स्टॉक्स में बढ़ोतरी देखने को मिली। वहीं निफ्टी में भी आज हल्के करेक्शन के बाद ही अच्छी तेजी आई। अब निफ्टी के लिए 16,696 के आसपास रजिस्टेंस नजर आ रहा है। अगर यह बाधा टूट जाती है तो फिर निफ्टी हमें 16,888 पर अगली बाधा का सामना करता नजर आएगा। वहीं अगर निफ्टी 16,506 के नीचे फिसलता है तो इसमें हल्की कमजोरी आ सकती है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ