Ticker

99/recent/ticker-posts

अब तक के सबसे निचले स्तर पर पहुंचा शेयर का भाव, जानिए निवेशकों को लगी कितने की चपत?

 

LIC Share News Update: LIC का शेयर लिस्टिंग के बाद से अपने इश्‍यू प्राइस के आसपास भी नहीं पहुंच पा रहा है. पिछले पांच कारोबारी सत्रों में यह शेयर 3 फीसदी से ज्‍यादा टूट चुका है.

LIC Life Time Low: एलआईसी के शेयर को बाजार में लिस्ट हुए कुछ ही दिन हुए हैं लेकिन इसकी गिरावट है कि थमने का नाम नहीं ले रही. भारतीय जीवन बीमा निगम का शेयर (LIC Share) लगातार नए निचले स्तर बना रहा है. एक-दो दिन की तेजी के बाद फिर से गिर जाता है. अपने इश्‍यू प्राइस से यह शेयर अब तक 15 फीसदी टूट चुका है. एनएसई (NSE) पर यह स्‍टॉक अपने लिस्टिंग प्राइस से 8 फीसदी नीचे आ चुका है. शुक्रवार को भी एलआईसी के शेयरों में गिरावट का दौर जारी रहा और यह 0.65 फीसदी की गिरकर 800.45 रुपये पर बंद हुआ. इंट्राडे में LIC का शेयर 800 रुपये पर पहुंच गया था.

पिछले 5 कारोबारी सत्रों की बात की जाए तो देश की सबसे बड़ी बीमा कंपनी का शेयर 3.27 फीसदी गिर चुका है. लिस्टिंग के बाद से ही यह शेयर अपने इश्‍यू प्राइस के आसपास भी नहीं पहुंचा है. लगातार गिरावट से इस शेयर में निवेश करने वाले निवेशक भी असमंजस में हैं. ब्रोकरेज हाउसेज की भी एलआईसी शेयर पर मिली-जुली राय है.

निवेशकों के करोड़ो रुपए डूबे

आईपीओ (LIC IPO) में भारतीय जीवन बीमा निगम का वैल्‍युएशन 6 लाख करोड़ रुपये आंका गया था. अब कंपनी का मार्केट कैपिटेलाइजेशन 5.06 लाख करोड़ रुपए पर आ गया है. इस तरह निवेशकों को करीब 1 लाख करोड़ रुपये का घाटा हो चुका है. LIC का शेयर 17 मई को बाजार में सूचीबद्ध हुआ था. वहीं बीएसई पर 867 रुपये पर और एनएससी पर एलआईसी के शेयरों की लिस्टिंग 872 रुपये के भाव पर हुई थी. एलआईसी का इश्‍यू प्राइस 949 रुपये था. यानी लिस्टिंग पर निवेशकों को 9 फीसदी का घाटा हुआ. इस शेयर का अब तक का उच्‍चतम स्‍तर 919 रुपये निम्‍नतम स्‍तर 800 रुपये है.

वित्‍त वर्ष 2022 की चौथी तिमाही में LIC का मुनाफा पिछले साल की समान अवधि से 17.41 फीसदी घटकर 2409 करोड़ रुपये रह गया है. पूरे वित्त वर्ष के दौरान कंपनी का मुनाफा 4043.12 करोड़ रुपये रहा, जो सालाना आधार पर 39.4 फीसदी अधिक है. मार्च 2022 को समाप्त हुई तिमाही में एलआईसी का कुल रेवेन्यू 2,11,471 करोड़ रुपये रहा है, जो वार्षिक आधार पर 11.64 फीसदी ज्यादा है.

मार्च 2022 तिमाही के नतीजों का ऐलान करते समय कंपनी ने 1.50 रुपये प्रति शेयर के डिविडेंड देने का भी ऐलान किया था लेकिन, इस घोषणा का भी कोई सकारात्‍मक असर एलआईसी के शेयरों की कीमतों पर नहीं हुआ.

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ