Ticker

99/recent/ticker-posts

KK Death: इग्नोर ना करें हार्ट अटैक के ये लक्षण, जानलेवा हो सकती है आपकी छोटी सी लापरवाही

 

हेल्थ डेस्क : 31 मई 2022 की रात को बॉलीवुड के मशहूर सिंगर केके का निधन (KK died) हो गया। दरअसल, कोलकाता में एक लाइव परफॉर्मेंस के दौरान उनकी तबीयत बिगड़ गई और उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां, डॉक्टर से उन्हें मृत घोषित कर दिया। डॉक्टर्स के अनुसार केके का निधन दिल का दौरा (Heart attack) पड़ने की वजह से हुआ है। पिछले कुछ समय में हार्ट अटैक की समस्या और दिल का दौरा पड़ने से मौत होने का आंकड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है। अच्छी लाइफस्टाइल होने के बाद भी कई सिलेब्रिटीज की मौत दिल का दौरा पड़ने से हो गई, जिसमें एक्टर सिद्धार्थ मल्होत्रा से लेकर क्रिकेटर शेन वॉर्न और केके तक शामिल है। लेकिन बड़ा सवाल यह है कि हार्ट अटैक आता क्यों है इसके लक्षण क्या है? तो आज आपके इन्हीं सारे सवालों का जवाब देते हैं और आपको बताते हैं कुछ ऐसे लक्षण (causes of heart attack) जिन्हें आपको कभी इग्नोर नहीं करना चाहिए...

क्या होता है हार्ट अटैक

जब अचानक शरीर की धमनियों में रुकावट आ जाए या खून का थक्का जमा होने की वजह से ब्लड सरकुलेशन बंद हो जाए तो हार्ट तक खून नहीं पंप हो पाता जिसके चलते हार्ट अटैक हो जाता है। कई बार तो यह इतना गंभीर होता है कि इससे ऑन द स्पॉट डेथ हो जाती है। बता दें कि हमारा शरीर 24 घंटे में 5000 गैलन ब्लड सर्कुलेटिंग करता है जिससे हमारे शरीर को ऑक्सीजन और पोषक तत्वों की पूर्ति होती है। अगर यह सही तरीके से काम करना बंद कर दे तो ब्लॉकेज और हार्ट अटैक की समस्या हो जाती है।

हार्ट अटैक के लक्षण

1. हार्ट अटैक का सबसे आम लक्षण है छाती या सीने में दर्द होना। अगर आपकी छाती और सीने में दर्द रहता है और आप इसे एसिडिटी या सीने की जलन समझकर इग्नोर कर देते हैं तो इसे नजरअंदाज करना ठीक नहीं है। आपको तुरंत अपने कार्डियोलॉजिस्ट से संपर्क करना चाहिए।

2. इसके अलावा अगर आपके शरीर के ऊपरी हिस्से जैसे- जबड़े, गले, कंधे आदि जगह हमेशा दर्द रहता है, तो आपको सावधान हो जाने की जरूरत है, क्योंकि यह दर्द हार्ट अटैक का संकेत हो सकता है।

3. हार्ट की समस्या से पीड़ित लोगों को पसीना बहुत ज्यादा आता है, लेकिन अगर यह पसीना ठंडा हो और आप इससे तरबतर हो जाएं तो इसे अनदेखा ना करें क्योंकि यह दिल का दौरा पड़ने का संकेत है।

4. यूं तो चक्कर आने के बहुत सारे कारण हो सकते हैं, लेकिन अगर आपको अचानक चक्कर आने लगे और आंखों के सामने सब कुछ काला नजर आने लगे तो समझ जाइए कि आपका दिल सही तरीके से काम नहीं कर रहा है और आपको एक अच्छे डॉक्टर से कंसल्ट करने की जरूरत है।

5. अमूमन एक स्वस्थ इंसान की हार्टबीट 95 से 98 के बीच में रहती है, लेकिन अगर आपकी हार्ट बीट या दिल की धड़कन बहुत ज्यादा कम या बढ़ने लगे तो समझ जाइए कि आपका दिल कमजोर हो रहा है। इतना ही नहीं अगर आपको थोड़ा सा चलने पर ही थकावट महसूस होने लगे और खूब सारा पसीना भी आने लगे तो यह भी हार्ट अटैक के संकेत होते हैं।

6. हार्ट पेशेंट की इम्यूनिटी कमजोर होती है। ऐसे में अगर आप सर्दी जुखाम से पीड़ित है और लंबे समय तक आपका सर्दी जुखाम ठीक नहीं हो रहा है तो आपको सतर्क हो जाने की जरूरत है।  

7. डायबिटीज या ब्लड प्रेशर से पीड़ित मरीजों को समय-समय पर अपने दिल की जांच करवाते रहना चाहिए, क्योंकि सबसे ज्यादा हार्ट अटैक के चांसेस ब्लड प्रेशर और डायबिटीज के मरीजों को होते हैं।

8. अगर बिना किसी चोट के या किसी कारण के आप के बाएं हाथ में लगातार दर्द रहता है और मूव या पेन रिलीफ ट्यूब लगाने के बाद भी यह कम नहीं होता है तो आपको सावधान होने की जरूरत है, क्योंकि यह हार्ट अटैक के संकेत हो सकता है। 

9. इसके अलावा, हार्ट अटैक के संकेत में सांस लेने में तकलीफ होना, शरीर में भारीपन, बेचैनी, ठंड होने के बाद भी पसीना आना, बहुत ज्यादा थकान महसूस होना शामिल है।

हार्ट अटैक के मुख्य कारण

दिल का दौरा पड़ने के पीछे कई जोखिम कारक हो सकते हैं। यहां, हम आपको सबसे प्रमुख कारकों के बारे में बता रहे हैं:

आयु: 

यह दिल के दौरे के आपके जोखिम को बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। साक्ष्य बताते हैं कि 45 साल की उम्र से अधिक पुरुषों और 55 साल की उम्र से ऊपर की महिलाओं को दिल का दौरा पड़ने की संभावना अधिक होती है।

लिंग: 

महिलाओं की तुलना में पुरुषों को दिल का दौरा पड़ने की संभावना 2 से 3 गुना अधिक होती है। महिला हार्मोन, एस्ट्रोजन, महिलाओं के मामले में ढाल का काम करता है।

आनुवांशिक प्रवृत्ति: 

अगर आपके घर में पीढ़ियों से ह्रदय रोग (माता-पिता, भाई या बहन) का इतिहास रहा है तो आपको दिल का दौरा या स्ट्रोक होने की संभावना सामान्य आबादी की तुलना में दो गुना है।

हाई ब्लड प्रेशर: 

लंबे समय तक अनियंत्रित ब्लड प्रेशर का स्तर आपके ह्रदय को रक्त की आपूर्ति करने वाली धमनियों को नुकसान पहुंचा सकता है जिससे आप दिल के दौरे की चपेट में आ सकते हैं।

खराब कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड का उच्च स्तर: 

खराब कोलेस्ट्रॉल या एलडीएल का आपकी धमनियों पर नकरात्मक प्रभाव पड़ता है क्योंकि इस कारण से आपकी नसें संकीर्ण हो जाती हैं। इसके अलावा, ट्राइग्लिसराइड के रूप में जाना जाने वाला ब्लड फैट भी दिल का दौरा पड़ने की संभावना को बढ़ा सकता है। ये दोनों कारक काफी हद तक आपकी डाइट से संबंधित होते हैं। इसलिए, दिल का दौरा पड़ने के अपने जोखिम को कम करने के लिए सावधानीपूर्वक भोजन करना महत्वपूर्ण है।

मोटापा: 

डायबिटीज के विकास की संभावना को बढ़ाते हुए आपके शरीर का अत्यधिक वजन आपके एलडीएल, ट्राइग्लिसराइड के स्तर को बढ़ा सकता है। ये सभी हार्ट अटैक के पीछे संभावित जोखिम कारक हैं। शारीरिक रूप से सक्रिय रहना और सीमित मात्रा में भोजन करना शरीर के आदर्श वजन को बनाए रखने का आधार है।

डायबिटीज: 

यह स्थिति हाई ब्लड शुगर के स्तर से चिह्नित करती है, एक अन्य स्थिति जो आपको दिल के दौरे की चपेट में ला सकती है।

तनाव: 

यह आपके ब्लड प्रेशर के स्तर को बढ़ाने के लिए जाना जाता है, जैसा कि पहले ही उल्लेख किया गया है, ये मायोकार्डियल इंफ्रेक्शन के पीछे एक प्रमुख जोखिम कारक है।

धूम्रपान: 

यह आपकी धमनियों को कठोर बनाता है और आपके ब्लड प्रेशर के स्तर को बढ़ाता है। ये सभी आपके दिल के दौरे के खतरे को बढ़ाते हैं।

हार्ट अटैक से बचने के घरेलू उपाय-

रोजाना एक्सरसाइज करें

हार्ट अटैक से बचाव करने में एकसराइज करना बेहतर विकल्प साबित हो सकता है। यह शरीर की मांसपेशियों को मज़बूत करने और प्रतिरोधक क्षमता को बेहतर करने में सहायक साबित हो सकती है।

लौकी है फायदेमंद

हार्ट अटैक से बचने के लिए लौकी का सेवन करना चाहिए। इसे खाने से ब्लड में अम्लता घट जाती है और ब्लॉकेज खुल जाता है। ऐसे में लौकी की सब्जी और लौकी का जूस फायदेमंद है, जो रक्त की अम्लता कम करती है। लौकी की जूस में तुलसी की पत्ते को मिला कर पिया जा सकता है। तुलसी की पत्ती में क्षारीय गुण होते हैं इसके अलावा पुदीना भी मिला कर पीने पर लाभ मिलता है। 

शराब के सेवन से बचें

स्मोकिंग या शराब का सेवन करने वाले लोगों में दिल के दौरे के पड़ने की संभावना काफी हद तक बढ़ने की संभावना रहती है। अत: उन्हें इन नशीली चीजों से परहेज रखना चाहिए ताकि उनकी जिंदगी खतरे में न पड़े और वे खुशहाल जिंदगी जी पाएं।

वजन पर रखें कंट्रोल

जिन लोगों का वजन अधिक होता है, उन्हें कई सारी बीमारियां जैसे डायबिटीज, रक्तचाप, दिल की बीमारी इत्यादि होने की संभावना रहती हैं। इसी कारण, सभी लोगों को अपने वजन पर विशेष ध्यान रखना चाहिए और उसे किसी भी स्थिति में बढ़ने से रोकना चाहिए।

अंकुरित गेहूं  

गेहूं को दस मिनट तक पानी में उबालें और फिर उन्हें अंकुरित करने के लिए किसी कपडे में बांध कर रखें। जब गेंहू 1 इंच तक लंबे अंकुरित हो जाए तो उनका सेवन रोज सुबह खाली पेट करें। याद रखें कि गेहूं की मात्रा 1 कटोरी रखे। इकसा सेवन 3-4 दिनों तक लगातार करें। इससे हार्ट अटैक का खतरा कम हो सकता है। 

तनाव से बचे

हार्ट अटैक की सबसे बडी वजह तनाव ही हैं तनाव के कारण लोगो को सबसे अधिक हार्ट अटैक आते हैं इससे बचने का एक ही तरीका हैं की आप कभी भी किसी भी परिस्थिति मे तनाव से हमेशा बचे रहे तनाव आपके स्वास्थ्य के लिए काफी नुकसानदेह होता हैं व हार्ट के रोगी के लिए थोड़ा तनाव भी जानलेवा भी हो सकता हैं।

मछली का सेवन करे

मछली का सेवन स्वास्थ्य के लिए कई तरह से लाभदायक होता हैं व आखो की रोशनी के लिए भी मछली बहुत लाभदायक होती हैं आप मछली के सेवन से दिल से सम्बंधित कई तरह की बिमारीयो से बचे रह सकते हैं दिल के रोगी को सप्ताह मे एक बार मछली का सेवन जरुर करना चाहिए ये दिल के दौरे से‌ बचने के लिए काफी लाभदायक होती हैं।

ब्लड प्रेशर रखें कंट्रोल

हार्ट अटैक के रोगी के लिए ब्लड प्रेशर की नियमित जांच कराना बहुत जरूरी है। ज्यादा ब्लड प्रेशर से किसी भी वक्त व्यक्ति को दिल का दौरा पड़ सकता है. अगर आप‌ नियमित ब्लड प्रेशर की जांच कराते हैं तो इससे ब्लड प्रेशर की नियमित जानकारी मिल जायेगी और आप इसकी दवाई ले के दिल के दौरे से भी बच सकते हैं।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ