Ticker

99/recent/ticker-posts

जयपुर में मासूम बच्ची की हत्या के बाद घटनास्थल की जांच करती पुलिस.


 जयपुर. राजधानी जयपुर के आमेर थाना इलाके में शनिवार को 9 साल की एक मासूम बच्ची की हत्या (Innocent girl murder) किसी और ने नहीं बल्कि उसके ही मकान मालिक के बेटे ने की थी. पुलिस ने उसे दिल्ली रोड पर तलाश कर धरदबोचा है. आरोपी से देर रात तक हुई पूछताछ में उसने अपना गुनाह कबूल कर लिया है. बताया जा रहा है कि उससे पहले आरोपी ने मासूम से रेप (Rape) किया. हालांकि पुलिस ने अभी तक रेप की पुष्टि नहीं की है. पुलिस का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही इसका पूरी तरह से खुलासा हो पायेगा. आरोपी भी नाबालिग है.

पुलिस के अनुसार प्रारंभिक पूछताछ में सामने आया है कि 9 साल की मासूम अपने माता पिता के साथ आमेर इलाके में किराये के मकान में रहती थी. शनिवार दोपहर को बच्ची खेलते हुए घर से बाहर आ गई. उसे अकेला देखकर आरोपी की नियत बिगड़ गई. आरोपी ने बाजार से सामान लाने के बहाने बच्ची को पैसे दिए और अपने साथ सूने खंडहर में ले गया. वहां उसने बच्ची को डराया धमकाया. फिर मुंह दबाकर उससे दुष्कर्म किया.

हत्या के बाद कुंडी लगाकर फरार हो गया

इससे मासूम डर गई और वह रोने लगी. उसने आरोपी से कहा कि वह घर जाकर अपनी माता पिता को पूरी बता बतायेगी. इस पर पकड़े जाने के डर से आरोपी ने बेरहमी से चाकू से नाबालिग बच्ची का गला काटकर उसकी हत्या कर दी. बाद में उसने खंडहर में बने कमरे में बाहर से दरवाजे की कुंदी लगा दी और वहां से फरार हो गया.

मासूम बच्ची का शव निर्वस्त्र हालत में पड़ा था

इस बीच अचानक बच्ची को गायब देखकर उसके माता-पिता ने उसे तलाश किया. लेकिन बच्ची का कुछ पता नहीं चल पाया. उसके बाद मासूम का शव घर से कुछ दूर खंडहर में पड़ा होने की सूचना मिली. तब परिजन वहां पहुंचे. वहां मासूम बच्ची का शव निर्वस्त्र हालत में पड़ा था. इससे परिजनों ने दुष्कर्म का संदेह जताया.

वारदात से पहले बच्ची के घर पर ही था आरोपी

सूचना मिलने पर डीसीपी नार्थ परिस देशमुख और एडिशनल डीसीपी सुमन चौधरी मौके पर पहुंचे. आमेर थाना पुलिस ने एफएसएल टीम को बुलाया. बच्ची के माता पिता से गहनता से बातचीत की. तब पता चला कि पड़ोस में रहने वाले उनके मकान मालिक का बेटा घटना से पहले घर पर ही था. तब बच्ची भी घर पर थी. लेकिन बच्ची के गायब होने के बाद से वह लड़का भी घर पर नजर नहीं आ रहा है. इस पर पुलिस ने आरोपी को चिन्हित कर उसकी तलाश शुरू की और उसे धरदबोचा.

बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया बैठे धरने पर

वहीं घटना के बाद आमेर विधानसभा क्षेत्र से विधायक एवं बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया भी मौके पर पहुंच गये. वे परिजनों और स्थानीय लोगों के साथ धरने पर बैठ गए. देर रात आरोपी के पकड़े जाने पर ही उन्होंने धरना समाप्त किया. सतीश पूनिया ने राज्य सरकार पर अपराध और बिगड़ती कानून व्यवस्था को लेकर कई आरोप लगाए.

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ