Ticker

99/recent/ticker-posts

सोने की कीमत में आई गिरावट, क्या निवेशकों के लिए है यह मौका? जानिए एक्सपर्ट्स की राय

 


इस सप्ताह सोने का प्रदर्शन फ्लैट रहा. डोमेस्टिक मार्केट में सोना (Gold price today) 50984 रुपए प्रति दस ग्राम के स्तर पर बंद हुआ, जबकि इंटरनेशनल मार्केट में स्पॉट गोल्ड 1854 डॉलर के स्तर पर बंद हुआ. चांदी (Silver price today) की बात करें तो डोमेस्टिक मार्केट में यह 61660 रुपए प्रति किलोग्राम के स्तर पर बंद हुई. इंटरनेशनल मार्केट में यह 21.94 डॉलर प्रति आउंस के स्तर पर बंद हुई. आगे सोना और चांदी में किस तरह का मूवमेंट दिखेगा इसको लेकर केडिया कमोडिटी (Kedia Commodity) के अजय केडिया ने कहा कि साप्ताहिक आधार पर MCX पर सोना की कीमत में 0.11 फीसदी की तेजी दर्ज की गई. चांदी में 0.72 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई.

अजय केडिया ने कहा कि डोमेस्टिक मार्केट में सोना उच्च स्तर पर खुद को मेंटेन नहीं रख पाया. 51400 रुपए के स्तर पर पहुंचने के बाद यह लुढ़क कर 51 हजार के ठीक नीचे बंद हुआ. चांदी भी 63 हजार के स्तर को नहीं पार कर पाई और 61700 के स्तर के करीब बंद हुई. उन्होंने कहा कि सोने की कीमत में गिरावट पर खरीदारी की जा सकती है. पहला सपोर्ट 50460 रुपए के स्तर पर है. उससे नीचे फिसलने पर नया सपोर्ट 49950 रुपए का और उसके नीचे 49485 रुपए का सपोर्ट है. कीमत में तेजी आने पर पहला लक्ष्य 51435 रुपए का है. उसके बाद 51900 और फिर 52410 रुपए पर मजबूत अवरोध है.

चांदी के लिए क्या है लक्ष्य?

चांदी की बात करें तो गिरावट के ट्रेंड में पहला सपोर्ट 60468 रुपए पर है. उसके बाद नया सपोर्ट 59268 रुपए पर और फिर 58034 रुपए पर मजबूत सपोर्ट है. चांदी के लिए 61702 एक ब्रेक आउट है. तेजी आने पर पहला अवरोध 62902 रुपए प्रति किलोग्राम पर है. उसके बाद 64136 रुपए पर और फिर 65336 रुपए के स्तर पर मजबूत अवरोध है.

थोड़ा और फिसल सकता है सोना

आईआईएफएल सिक्यॉरिटीज के अनुज गुप्ता का कहना है कि इंटरनेशनल मार्केट में सोना 1865 डॉलर के स्तर पर ब्रेक आउट दिया फिर फिसला गया. ऐसे में कीमत में और गिरावट आ सकती है. स्पॉट गोल्ड 1830 डॉलर के स्तर तक और MCX पर सोना 50500 रुपए के स्तर तक फिसल सकता है. नए निवेशक इन स्तरों पर एंट्री ले सकते हैं. ओवरऑल गोल्ड को लेकर सेंटिमेंट बुलिश है.

सप्ताह के शुरू में सोने पर दबाव

रेलिगेयर ब्रोकिंग की सुगंधा सचदेव ने कहा कि इस सप्ताह के शुरुआत में सोने पर दबाव दिखा. दरअसल इंट्रेस्ट रेट में बढ़ोतरी की संभावने के बीच अमेरिकी ट्रेजरी यील्ड बढ़ने लगी जिसके कारण सोने में बिकवाली बढ़ी और कीमत घट गई. महंगाई के कारण मंदी की चिंता है लेकिन इसका सबसे बड़ा कारण यूक्रेन क्राइसिस है जिसके कारण एनर्जी की कीमत में उछाल देखा जा रहा है.

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ