Ticker

99/recent/ticker-posts

धनलक्ष्मी बैंक 127 करोड़ रुपये जुटाएगा

धनलक्ष्मी बैंक अपने पूंजी पर्याप्तता अनुपात में मजबूती के लिए इस महीने 2:1 के अनुपात में राइट्स इश्यू जारी कर 127 करोड़ रुपये जुटाने की योजना बना रहा है। बैंक का पूंजी पर्याप्तता अनुपात मार्च के आखिर में घटकर 12.98 फीसदी रह गया था। राइट्स इश्यू के जरिये पूंजी जुटाए जाने के बाद पूंजी पर्याप्तता अनुपात 50 आधार अंक मजबूत होने की संभावना है।

सूत्रों ने कहा कि राइट्स इश्यू मौजूदा शेयर कीमत के मुकाबले छूट पर मिल सकता है। बैंक का शेयर 12.73 रुपये पर कारोबार कर रहा है।  बैंक अगले 10 दिन में इस इश्यू के लिए सेबी से मंजूरी मांगेगा। सेंट्रम कैपिटल इस इश्यू की मर्चेंट बैंकर है। बैंक की योजना इस वित्त वर्ष के आखिर तक क्रेडिट-डिपॉजिट अनुपात मार्च 2022 के 68 फीसदी से बढ़ाकर 86 फीसदी पर ले जाने की है, जिसके लिए  बैंक को रकम की दरकार होगी। बैंक का क्रेडिट-डिपॉजिट अनुपात पिछले एक साल में 59 फीसदी से सुधरा है।बैंक आरबीआई की त्वरित उपचारात्मक कार्रवाई से फरवरी 2019 में बाहर निकला। हालांकि गवर्नेंस का मसला बैंक को परेशान किए हुए है और पिछले तीन साल में तीन सीईओ व दो चेयरमैन इस्तीफा दे चुके हैं। बोर्ड  के कई सदस्य  भी इस्तीफा दे चुके हैं और इसके प​रिणामस्वरूप अब बोर्ड में 5 सदस्य रह गए हैं और उनमें से दो आरबीआई के नामांकित सदस्य हैं। बैंक में 11 बोर्ड सदस्यों का प्रावधान है।

अक्टूबर 2020 में शेयरधारकों ने बैंक के तत्कालीन सीईओ सुनील गुरबख्सानी  को बाहर निकालने के लिए मतदान किया था।  जनवरी 2021 में एसबीआईै के पूर्व मुख्य महाप्रबंधक जे के शिवन को नया एमडी व सीईओ नियुक्त किया गया था।बैंक ने चौथी तिमाही में अपना प्रदर्शन सुधारा है और शुद्ध‍  लाभ सुधरकर 23.4 करोड़ रुपये पर पहुंच गया, जो एक साल पहले की समानअवधि में 5.28 करोड़ रुपये रहा।

आगाज पर स्थिर रहा ईमुद्रा का शेयर

डिजिटल प्रमाणपत्र प्रदाता ईमुद्रा का शेयर सोमवार को अपने इश्यू प्राइस के मुकाबले मामूली फेरबदल के साथ बंद हुआ। यह शेयर 1.1 फीसदी की बढ़त के साथ 259 रुपये पर बंद हुआ जबकि इश्यू प्राइस 256 रुपये था। यह शेयर बीएसई पर 279 रुपये के उच्चस्तर और 255 रुपये के निचले स्तर को पहुंचा था। ईमुद्रा के 413 करोड़ रुपये के आईपीओ को 2.7 गुना आवेदन मिले थे।

आईपीओ के जरिये ईमुद्रा ने नए शेयर जारी कर 200 करोड़ रुपये जुटाए जबकि बाकी का हिस्सा द्वि‍तीयक बिक्री थी। खुदरा निवेशकों की श्रेणी में 2.6 गुना आवेदन मिले थे जबकि एचएनआई श्रेणी व संस्थागत निवेशकों  की श्रेणी में क्रमश: 4 गुना व  1.3 गुना आवेदन ​हासिल हुए थे। आखिरी बंद भाव पर कंपनी का मूल्यांकन 2,021 करोड़ रुपये बैठता है। 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ