Ticker

99/recent/ticker-posts

United Spirits 820 करोड़ रुपये में Inbrew Beverages को बेचेगी 32 ब्रांड, जानिए पूरी डिटेल

 

United Spirits 820 करोड़ रुपये में Inbrew Beverages को बेचेगी 32 ब्रांड, जानिए पूरी डिटेल

USL के McDowell’s और Director’s स्पेशल ब्रांड इस करार के बाहर हैं। इनके अधिकार USL के पास ही बने रहेंगे

देश की शराब बनाने वाली दिग्गज कंपनी यूनाइटेड स्प्रिट लि. (United Spirits) ने शुक्रवार को बताया है कि वह अपने 30 से ज्यादा ब्रांडों की बिक्री इनब्रू ब्रूवरी (Inbrew Beverages) को करने वाली है। इस ब्रिक्री से कंपनी को 820 करोड़ रुपये मिलेंगे। USL(यूनाइटेड स्प्रिट लि.) और Inbrew ने इस बारे में एक करार किया है। इस करार के तहत USL के हेवर्ड्स, ओल्ड टैवर्न, व्हाइट-मिसचीफ, हनी बी, ग्रीन लेबल और रोमानोव जैसे ब्रांडों की बिक्री इनब्रू (Inbrew)को की जाएगी।

गौरतलब है कि USL भारत में अपने पोर्टफोलियो के प्रीमियमाइजेशन पर फोकस कर रही है। इस रणनीति के तहत ही उसने अपने चुनिंदा लोकप्रिय ब्रांडों की समीक्षा की शुरुआत की थी। इस समीक्षा के बाद 32 ब्रांडों को बेचने का निर्णय लिया गया है।

इस बिक्री करार के तहत इन 32 ब्रांड से संबंधित कॉन्ट्रैक्ट, परमिट, इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी राइट, ब्रांडों से संबंधित कर्मचारी और इनकी उत्पादन इकाईयां सब Inbrew को मिल जाएंगी। इसके अलावा USL ने Inbrew के साथ अपने 11 दूसरे ब्रांडों के लिए एक 5 साल का फ्रेंचाइजी एग्रीमेंट भी किया है। इस एग्रीमेंट में Bagpiper ब्रांड भी शामिल है।

USL के McDowell’s और Director’s स्पेशल ब्रांड इस करार के बाहर हैं। इनके अधिकार USL के पास ही बने रहेंगे। USL का कहना है कि इस सौदे के 30 सितंबर 2022 के समाप्त तिमाही में पूरे हो जाने की संभावना है।

बतातें चलें कि Inbrew मुख्यत: बीयर बनाने वाले कंपनी है। भारत में इसकी 2 बीयर बनाने वाली यूनिट है। कंपनी का हेडक्वार्टर सिंगापुर में है। इसका मालिकाना हक इंग्लैंड स्थिति उद्यमी रवि देवोल के हाथ में है। कंपनी ने भारत में Molson Coors के ब्रूवरी कारोबार का अधिग्रहण किया है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ