Ticker

99/recent/ticker-posts

यूको और यूनियन बैंक ने जारी किए तिमाही नतीजे, दोनों का मुनाफा बढ़ा और एनपीए में आई कमी

 

यूको और यूनियन बैंक ने जारी किए तिमाही नतीजे, दोनों का मुनाफा बढ़ा और एनपीए में आई कमी

यूको बैंक और यूनियन बैंक ऑफ इंडिया ने शुक्रवार को नतीजे जारी किए थे.

नई दिल्ली. यूको बैंक ने शुक्रवार को बताया कि उसके खराब ऋण (एनपीए) में कमी आने की वजह से मार्च 2022 को समाप्त तिमाही में उसका शुद्ध मुनाफा करीब 4 गुना बढ़कर 312.18 करोड़ रुपये हो गया. एक साल पहले की समान तिमाही में यूको बैंक ने 80 करोड़ रुपये का शुद्ध मुनाफा अर्जित किया था.

यूको बैंक ने शेयर बाजार को बताया कि वर्ष 2021-22 की चौथी तिमाही के दौरान उसकी कुल आय घटकर 4,362 करोड़ रुपये रह गई जो एक साल पहले की समान अवधि में 4,637 करोड़ रुपये थी. वहीं, पूरे वित्त वर्ष 2021-22 के लिए बैंक का शुद्ध मुनाफा 930 करोड़ रुपये रहा. यह 2020-21 के 167 करोड़ रुपये के मुनाफे से करीब 5 गुना अधिक है. बीते वित्त वर्ष के दौरान बैंक की कुल आय 18,082 करोड़ रुपये रही जो इससे पिछले वित्त वर्ष में 17,870 करोड़ रुपये थी.

एनपीए में गिरावट

बैंक ने बताया है कि उसके लाभ में वृद्धि एनपीए में कमी आने की वजह से हुई है. बैंक का एनपीए मार्च 2022 के अंत तक 7.89 रह गया जो मार्च 2021 के अंत तक 9.59 फीसदी था. ल्य के हिसाब से बैंक का सकल एनपीए 11,352 करोड़ रुपये से घटकर 10,237 करोड़ रुपये रह गया. बैंक की नेट इंटरस्ट इनकम (एनआईआई) 17 फीसदी बढ़कर 1652 करोड़ रुपये हो गई है. बैंक ने कहा है कि बोर्ड की वार्षिक जनरल मीटिंग से पहले शेयरधारकों के लिए डिविडेंड पर फैसला लिया जाएगा. बैंक की जारी तिमाही में देश में 200 और शाखाएं खोलने की योजना है. फिलहाल यूको बैंक की 3073 शाखाएं हैं.

यूनियन बैंक ऑफ इंडिया के तिमाही नतीजे

यूनियन बैंक ऑफ इंडिया ने बताया है कि 2021-22 की मार्च तिमाही में उसका शुद्ध लाभ 8 फीसदी बढ़कर 1,440 करोड़ हो गया. इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में बैंक को 1,330 करोड़ रुपये शुद्ध लाभ हुआ था. यूनियन बैंक ने शेयर बाजारों को दी गई जानकारी में बताया कि बीते वित्त वर्ष की अंतिम तिमाही में उसकी कुल आय 20,417.44 करोड़ रुपये रही जो इससे पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में 19,804.91 करोड़ रुपये थी. पूरे वित्त वर्ष में बैंक का शुद्ध लाभ 80 फीसदी के उछाल के साथ 5,232 करोड़ रुपये हो गया. जबकि बैंक की आय 2020-21 वित्त वर्ष के मुकाबले घटकर 80,511.83 करोड़ रुपये रही।

एनपीए में गिरावट

यूनियन बैंक ऑफ इंडिया का मार्च तिमाही में एनपीए बैंक ग्रॉस एडवांस का 11.11 फीसदी रहा. जो कि एक साल पहले इसी अवधि में 13.74 फीसदी था. वैल्यू के हिसाब से बैंक का ग्रॉस एनपीए 79,587.07 करोड़ रुपये रहा जो एक साल पहले इसी अवधि में 89,788.20 करोड़ रुपये था. मार्च तिमाही में बैंक का नेट एनपीए भी 4.62 प्रतिशत से गिरकर 3.68 प्रतिशत हो गया. बैंक के बोर्ड ने वित्त वर्ष 2021-22 के अंतिम लाभांश के लिए 1.90 रुपये प्रति शेयर की सिफारिश की है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ