Ticker

99/recent/ticker-posts

राज्य में टाटा सेमीकंडक्टर आकर्षित करने के लिए चाहिए इच्छाशक्ति

 

राज्य में टाटा सेमीकंडक्टर आकर्षित करने के लिए चाहिए इच्छाशक्ति

टाटा कम्पनी ने सेमीकंडक्टर असेंबल तथा जांच यूनिट को स्थापित करने का फैसला लिया है. कर्नाटक समेत दक्षिण के तीन राज्यों में रुचि दिखाई है. राज्य के लिए इसे आकर्षित करने की दिशा में सरकार को इच्छाशक्ति दिखाने की जरूरत है. अन्य दो राज्यों की चुनौती को पार कर कंपनी को यहीं पर बसाने की दिशा में आकर्षक कार्रवाइयों को करना चाहिए.

शहर के उद्यमियों का कहना है कि सॉफ्टवेयर में टीसीएस के जरिए अपनी ही पहचान बनाने वाली टाटा कंपनी ने हार्डवेयर उत्पादों की ओर रुचि दिखाई है, इसके भाग के तौर पर सेमीकंडक्टर इकाई शुरू करने का फैसला लिया है. इसके लिए दक्षिण के तीन राज्यों में किसी एक राज्य में निवेश करने का फैसला लिया है. इस दिशा में कम्पनी ने कर्नाटक, तेलंगाना तथा तमिलनाडु सरकारों के साथ प्राथमिक स्तर की चर्चा कर रही है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मेक इन इंडिया परिकल्पना के तहत तकनीक को प्रभावी तौर पर इस्तेमाल कर, विभिन्न उत्पादों के लिए जरूरी सेमीकंडक्टर चिप का उत्पादन करने का निर्णय किया है. सेमीकंडक्टर चिप के मुद्दे पर भारत चीन समेत कुछ देशों पर निर्भर है. इसके बदले इस मुद्दे पर आत्मनिर्भर होना केंद्र सरकार का रख है. इसके लिए पूरत कार्रवाईयां चल रही हैं.

आकर्षण इच्छाशक्ति की जरूरत

टाटा कंपनी ने सेमीकंडक्टर असेंबली तथा जांच यूनिट स्थापना की दिशा में कर्नाटक, तेलंगाना, तमिलनाडु राज्य सरकारों के साथ बातचीत चल रही है. किस राज्य में बसेगा इस बारे में अभी पुख्ता नहीं किया है. इकाई आरम्भ करने के लिए जमीन, मूलभूत सुविधा, छूट, सब्सिडी, उद्योग स्नेही तथा शांतिपूर्ण माहौल का स्पष्ट आश्वासन जहां मिलेगा वहां आम तौर पर उद्योग क्षेत्र बसाने का फैसला लेंगे. अब टाटा कंपनी भी तीन राज्यों के साथ चर्चा की है. जहां अधिक सुविधा मिलेगी वहां रोजगार शुरू करने का फैसला लिया है.

तीन सौ मिलियन डॉलर का निवेश

शहर के उद्यमियों का कहना है कि कहा जा रहा है कि टाटा कंपनी सेमीकंडक्टर असेंबल तथा जांच यूनिट शुरू करने के लिए इसके लिए पूरक उद्योग की खातिर 300 मिलियन डॉलर निवेश करने का फैसला लिया है. इसके तहत सेमीकंडक्टर असेंबली तथा जांच यूनिट, पैकेजिंग, सिलिकॉन वेफर, सेमीकंडक्टर चिप तैयार करने पर विचार किया गया है. सेमीकंडक्टर असेंबल तथा जांच यूनिट आरम्भ होने पर लगभग चार हजार लोगों को रोजगार मिलने की उम्मीद है. इससे अप्रत्यक्ष तौर पर और अधिक रोजगार सृजन के साथ आर्थिक विकास के लिए पूरक उद्योगों को आकर्षित करने में मदद मिलेगी. सेमीकंडक्टर चिप तैयार करने की दिशा में राज्य विश्व का ध्यान खींचने की उम्मीद है.

उम्मीद के हिसाब से नहीं आ रहे उद्योग

उद्योगों को आकर्षित करने की दिशा में पूर्व में अविभाजित आंध्र प्रदेश ने अतिक्रमण नीति को अपनाने के जरिए उद्योगों को अपनी ओर खींचता था. आंध्र प्रदेश से पृथक हुए तेलंगाना राज्य अब इसी अतिक्रमण नीति के लिए आगे आया है. उद्योंगों को आकर्षित करने की दिशा में विभिन्न सुविधा, छूट दे रही है. तमिलनाडु ने भी अपनी ही दिशा में उद्योगों को आकर्षित करने का फैसला लिया है. हालही में होसूरु समेत विभिन्न जगहों पर उद्योग निवेश को आकर्षित करने की दिशा में महत्वपूर्ण कदम रखने के जरिए ध्यान खींच रहा है. शहर के उद्यमियों का कहना है कि उद्योगों के लिए अनुकूल, उद्यमियों का पसंदीदा ठिकाना कर्नाटक विदेशी सीधे निवेश में देश में ही प्रथम स्थान पर होने का गर्व करते थे परन्तु उम्मीद के हिसाब से उद्योग नहीं आ रहे हैं.

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ