Ticker

99/recent/ticker-posts

टाटा पावर को 1,731 करोड़ रुपये में सरकारी कंपनी के लिए 300MW का सोलर प्रोजेक्ट लगाने का काम मिला

 

टाटा पावर को 1,731 करोड़ रुपये में सरकारी कंपनी के लिए 300MW का सोलर प्रोजेक्ट लगाने का काम मिला

शहरी और ग्रामीण दोनों इलाकों में टाटा पावर द्वारा सोलर सॉल्यूशंस उपलब्ध कराया जाता है

टाटा पावर कंपनी (Tata Power Company) ने एक रेग्युलेटरी फाइलिंग में सोमवार को कहा कि उसकी पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी टाटा पावर सोलर सिस्टम्स (Tata Power Solar Systems) को सरकारी कंपनी एनएचपीसी (NHPC) के लिए 300 मेगावाट की सोलर प्रोजेक्ट बनाने का ऑर्डर मिला है। इस ऑर्डर की कुल कीमत 1,731 करोड़ रुपये है।

राजस्थान में स्थित प्रोजेक्ट साइट को IREDA की CPSU योजना के तहत डेवलप किया जाएगा। यह प्रोजेक्ट 18 महीने के अंदर पूरा होगा। इस प्रोजेक्ट का लक्ष्य लगभग 6,36,960 कार्बन उत्सर्जन (carbon emissions) को कम करना है। इस प्रोजेक्ट से सालाना लगभग 75 करोड़ यूनिट बिजली उत्पन्न होने की उम्मीद है। प्रोजेक्ट इंस्टालेशन में भारत में बने सेल और मॉड्यूल का इस्तेमाल किया जाएगा।

टाटा पावर के सीईओ और एमडी डॉ. प्रवीर सिन्हा (Dr. Praveer Sinha, CEO & MD, Tata Power) ने कहा, "एनएचपीसी के इस महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट को पाने से हम सम्मानित महसूस कर रहे हैं। इससे विश्व स्तरीय सोलर प्रोजेक्ट को अत्याधुनिक भारतीय तकनीक का उपयोग करके समय पर बनाने और सौंपने की हमारी क्षमता के प्रति इंडस्ट्री के भरोसा साफ झलकता है।"

टाटा पावर सोलर हमेशा इस तरह के बड़े पैमाने पर सोलर और रिन्यूएबल प्रोजेक्ट्स को बनाने और शुरू करने में अग्रणी रहा है। इस ऑर्डर के साथ कंपनी की लंबित ऑर्डर बुक 13,500 करोड़ रुपये तक पहुंच गई है। इसके साथ ही टोटल युटिलिटी-स्केल पर सोलर प्रोजेक्ट पोर्टफोलियो 9.7GWp तक पहुंच गया है।

टाटा पावर की कुल रिन्यूएबल क्षमता 4,920 मेगावाट है। इसमें कार्यान्वयन के लिए विभिन्न चरणों में मौजूद 1,400 मेगावाट के रिन्यूएबल प्रोजेक्ट्स शामिल हैं।

बता दें कि टाटा पावर कंपनी ने 2021-22 की चौथी तिमाही के लिए 632 करोड़ रुपये का कंसोलिडेटेड मुनाफा दर्ज किया। जबकि पिछले वर्ष की इसी अवधि में कंपनी के 481 करोड़ रुपये के मुनाफे की तुलना में इसमें 31 प्रतिशत की सालाना वृद्धि दर्ज की गई। 2021-22 के पूरे साल के लिए कंपनी का शुद्ध मुनाफा 2020-21 के लिए 1,439 करोड़ रुपये के मुनाफे की तुलना में 50 प्रतिशत बढ़कर 2,156 करोड़ रुपये हो गया।

टाटा पावर भारत की सबसे बड़ी इंटीग्रेटेड बिजली कंपनी है। इसके पास सहायक कंपनियों और संयुक्त रूप से नियंत्रित संस्थाओं के साथ कुल मिलाकर 10,763 मेगावाट की क्षमता है। Tata Power कंपनी Solar 635MW मॉड्यूल और 500 MW सेल की उत्पादन क्षमता के साथ बेंगलुरू में एक विश्व स्तरीय मैन्युफैक्चरिंग यूनिट चलाती है।

मिंट में छपी खबर के मुताबिक टाटा पावर के पास ग्राउंड-माउंट यूटिलिटी-स्केल के 9.7GWp से अधिक का पोर्टफोलियो है। देश भर में 1000MW से अधिक रूफटॉप है। कंपनी ने पूरे देश में जनरेशन प्रोजेक्ट्स वितरित किये हैं। कंपनी ने भारत में अब तक 67000 से अधिक सोलर वाटर पंप लगाये हैं। यह कंपनी शहरी और ग्रामीण दोनों बाजारों के लिए सोलर सॉल्यूशंस उपलब्ध कराता है - इनमें रूफटॉप सॉल्यूशंस, सोलर पंप और पावर पैक शामिल हैं।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ