Ticker

99/recent/ticker-posts

Rainbow Children's Medicare की कमजोर लिस्टिंग ने किया निराश, अब क्या करें निवेशक?

 

Rainbow Children's Medicare की कमजोर लिस्टिंग ने किया निराश, अब क्या करें निवेशक?


लिस्टिंग से पहले एक्सपर्ट्स Rainbow Children's Medicare के IPO को लेकर पॉजिटिव थे और उन्होंने इश्यू के लिए ‘सब्सक्राइब’ की रेटिंग दी थी

Rainbow Children's Medicare : भारत की मल्टी स्पेशियलिटी पेडियाट्रिक, ऑब्सटेट्रिक्स और गाइनेकोलॉजी हास्पिटल चेन रेनबो चिल्ड्रंस मेडिकेयर का 10 मई का शेयर बाजार में कमजोर आगाज रहा। शेयर 542 रुपये के इश्यू प्राइस की तुलना में 6 फीसदी डिस्काउंट के साथ 510 रुपये प्रति शेयर के भाव पर नेशनल स्टॉक एक्सचेंज पर लिस्ट हुआ। वहीं बीएसई (BSE) पर 506 रुपये पर लिस्टिंग हुई। दोपहर लगभग 1 बजे शेयर 19 फीसदी की कमजोरी के साथ 438 रुपये के आसपास कारोबार कर रहा है।


लिस्टिंग से पहले एक्सपर्ट्स IPO को लेकर पॉजिटिव थे और उन्होंने इश्यू के लिए ‘सब्सक्राइब’ की रेटिंग दी थी। हालांकि, जिओपॉलिटिकल क्राइसेस और ब्याज दरों में बढ़ोतरी के चलते जारी उतार-चढ़ाव और निगेटिव सेंटीमेंट का इश्यू पर खासा असर दिखा और बाजार की उम्मीदों पर खरा नहीं उतर सका।

अब क्या करें इनवेस्टर्स?

स्वास्तिक इनवेस्टमार्ट के हेड ऑफ रिसर्च संतोष मीणा ने कहा, “कंपनी की कमजोर लिस्टिंग की वजह उतार-चढ़ाव, निगेटिव सेंटीमेंट और हॉस्पिटल बिजनेस के प्रति इनवेस्टर्स की कम दिलचस्पी हो सकती हैं।” उन्होंने कहा कि कंपनी का स्पेशलाइज्ड बिजनेस है, अनुभवी मैनेजमेंट टीम है, प्रशिक्षित मेडिकल प्रोफेशनल हैं लेकिन हॉस्पिटल एक प्रतिस्पर्धी बिजनेस है। कोविड के बाद प्रॉफिटेबिलिटी के सामान्य स्थिति में आने से यह लंबी अवधि का नजरिया रखने वाले निवेशकों के लिए उपयुक्त है।

आईसीआईसीआई डायरेक्ट रिसर्च के मुताबिक, इसका लक्षित बाजार वित्त वर्ष 26 तक 14 फीसदी सीएजीआर दर से बढ़ने का अनुमान है। हालांकि, रेनबो के लिए हेल्थकेयर क्षेत्र में कंसॉलिडेशन में बढ़ोतरी के बीच मौजूदा ग्रोथ को बनाए रखना अहम होगा।

प्रतिस्पर्धी कंपनियों से बेहतर है पीई,

मारवाड़ी फाइनेंशियल सर्विसेज में रिसर्च एनालिस्ट सौरभ जोशी ने कहा, “इनवेस्टर्स को लंबी अवधि के नजरिये से स्टॉक को होल्ड करने पर विचार करना चाहिए। कंपनी की वैल्यूएशन (पीई की 43 गुनी) अपनी प्रतिस्पर्धी कंपनियों Apollo hospital और Fortis healthcare की तुलना में काफी कम है, जिनके शेयर क्रमशः 63 और 53 गुने पीई पर ट्रेड कर रहे हैं।

हेम सिक्योरिटीज की सीनियर रिसर्च एनालिस्ट आस्था जैन ने कहा, “अलॉटमेंट में शेयर हासिल करने वाले इनवेस्टर लंबी अवधि के लिए इन्हें होल्ड कर सकते हैं।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ