Ticker

99/recent/ticker-posts

Price Hike: ब्रांडेड कपड़े होंगे महंगे, कॉटन की कीमतों में उछाल से फैशन रिटेलर्स दाम बढ़ाने की कर रहे तैयारी

 

Price Hike: ब्रांडेड कपड़े होंगे महंगे, कॉटन की कीमतों में उछाल से फैशन रिटेलर्स दाम बढ़ाने की कर रहे तैयारी


घरेलू बाजार में कॉटन की कीमत 8,220 रुपये प्रति क्विंटल पर पहुंच चुकी है.

नई दिल्ली. आम लोगों की जेब पर इन दिनों चारों तरफ से महंगाई की मार पड़ रही है. रोजमर्रा के इस्तेमाल की वस्तुओं से लेकर तमाम चीजों की कीमतें या तो बढ़ गई है या फिर बढ़ रही है. इसी सिलसिले में अब ब्रांडेड कपड़ों की कीमतों में फिर से बढ़ोतरी होने जा रही है. इससे पहले दिसंबर 2021 में भी रेडिमेड ब्रांडेड कपड़ों के दाम बढ़े थे.

शॉपर्स स्टॉप, सेलियो (Celio), अरविंद फैशन जैसे फैशन रिटलर्स अपने-अपने प्रोडक्ट्स की कीमतों में बढ़ोतरी करने की तैयारी कर रहे हैं. घरेलू और अंतरराष्ट्रीय बाजार में कॉटन की कीमतों में आई तेज उछाल की वजह से लागत लगातार बढ़ती जा रही है. इसी वजह से फैशन रिटेलर्स इसका बोझ ग्राहकों पर डालने की तैयारी में हैं. हाजिर बाजार में पिछले साल के मुकाबले कॉटन की कीमत 45 फीसदी उछल चुकी है.

लागत में वृद्धि है वजह

अरविंद फैशंस के डायरेक्टर और अरविंद लिमिटेड के एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर कुलिन लालभाई ने मनीकंट्रोल को बताया कि लागत लगातार बढ़ती जा रही है. अब हमारे पास इसका बोझ ग्राहकों पर डालने के सिवा और कोई रास्ता नहीं बचा है. कीमत को कम रखने का हम उपाय कर रहे हैं लेकिन पूरा बोझ हम नहीं उठा सकते हैं. सेलियो ने भी इसी तरह के संकेत दिए हैं. हालांकि, उसने कहा है कि अगले विंटर कलेक्शन के दाम में बढ़ोतरी हो सकती है. सेलियो इंडिया के सीईओ सत्येन मोमाया ने कहा कि अगर कॉटन की कीमतों में आगे भी इसी तरह से उतार-चढ़ाव जारी रहा, जैसा कि अभी है, तो फिर कीमतों में 5-6 फीसदी तक वृद्धि हो सकती है.

बनी हुई है मांग

शॉपर्स स्टॉप के एमडी और सीईओ वेणु नायर ने भी हाल ही में कीमतों में बढ़ोतरी के संकेत दिए थे. इससे पहले शॉपर्स स्टॉप ने अक्टूबर 2021 में कीमतों में 10-12 फीसदी तक की वृद्धि की थी. दाम बढ़ने के बावजूद ब्रांडेड कपड़ों की मांग में कमी नहीं आई है. वेणु नायर ने बताया कि प्रीमियम से लेकर मिड सेगमेंट तक के कपड़ों की मांग में कीमतों में वृद्धि का कोई असर नहीं पड़ा है.

ग्लोबल मार्केट में मांग में तेजी और सप्लाई बाधित होने से कॉटन की कीमतों में तेज उछाल दर्ज किया जा रहा है. क्रिसिल के मुताबिक, इंटरकॉन्टिनेंटल एक्सचेंज पर कॉटन का वायदा भाव अपने सर्वोच्च स्तर 1.5 डॉलर प्रति पौंड पर पहुंच चुका है. घरेलू बाजार में कॉटन की कीमत 8,220 रुपये प्रति क्विंटल पर पहुंच चुकी है जो पिछले साल के मुकाबले 45 फीसदी ज्यादा है. पिछले साल इस समय इसकी कीमत 5,728 रुपये प्रति क्विंटल थी.

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ