Ticker

99/recent/ticker-posts

Paytm के शेयरों की किस्मत क्या होगी! 450 रुपए तक गिरेगा या 1070 तक पहुंचने का है कोई चांस

 

Paytm के शेयरों की किस्मत क्या होगी! 450 रुपए तक गिरेगा या 1070 तक पहुंचने का है कोई चांस

Paytm का इश्यू प्राइस 2150 रुपए था लेकिन अब इसके शेयर 600 रुपए के करीब ट्रेड कर रहे हैं

Paytm Share Price: पेमेंट कंपनी Paytm के शेयरों पर निवेशकों का भरोसा नहीं लौट रहा है। यही वजह है कि इसके शेयरों में लगातार गिरावट जारी है। बुधवार 25 मई को भी Paytm के शेयरों में गिरावट देखी गई। कंपनी के शेयर आज 7.02% यानी करीब 45.40 रुपए गिरकर 601.05 रुपए पर ट्रेड कर रहे हैं। ऐसे में अब निवेशकों को इस बात की चिंता सता रही है कि आगे Paytm के शेयरों का भविष्य क्या है।

Paytm के शेयरों का आगे क्या होने वाला है इस बात पर ब्रोकरेज फर्मों की राय भी अलग है। यही वजह है कि निवेशकों की उलझन खत्म नहीं हो रही है। ब्रोकरेज फर्म मैक्वायरी ने Paytm का टारगेट प्राइस 450 रुपए तय किया है। यानी कंपनी के शेयर अपने 600 रुपए के मौजूदा लेवल से 150 रुपए तक गिर सकती है।

वहीं दूसरी तरफ गोल्डमैन सैक्स और आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज ने Paytm के शेयरों का टारगेट 1000-1300 रुपए तय किया है। अब आप सोच रहे होंगे कि इन ब्रोकरेज हाउस और मैक्वायरी के टारगेट में फर्क क्यों है। इस फर्क की वजह है EBITDA लॉस ब्रेकइवन की टाइमिंग। एक कंपनी को लगता है कि यह अगले साल तक ब्रेक इवन में आ जाएगी। जबकि दूसरी ब्रोकरेज फर्म को लगता है कि इसमें कम से कम 12 तिमाही का वक्त लगेगा।

गोल्डमैन सैक्स का मानना है कि सितंबर 2023 तक Paytm का EBITDA ब्रेक इवन (ना लॉस-ना प्रॉफिट) पर आ जाएगा। इसी को शेयरों में तेजी का आधार मानते हुए गोल्डमैन सैक्स ने 1070 रुपए का टारगेट तय किया है।

जबकि दूसरी तरफ मैक्वायरी का मानना है कि Paytm का मुनाफे आना टेढ़ी खीर है। ब्रोकरेज फर्म के मुताबिक, EBITDA के ब्रेक इवन आने में कम से कम 12 तिमाही का वक्त लगेगा। यही वजह है कि मैक्वायरी ने Paytm का टारगेट प्राइस 450 रुपए तय किया है।

18 नवंबर 2021 को Paytm के शेयरों की लिस्टिंग के बाद से ही मैक्वायरी इसकी कवरेज कर रहा है।Paytm का इश्यू प्राइस 2150 रुपए था। लेकिन मैक्वायरी ने इसका पहला टारगेट प्राइस 1200 रुपए तय किया था। इसके बाद जनवरी 2022 में मैक्वायरी ने इसका टारगेट प्राइस घटाकर 900 रुपए कर दिया। फिर फरवरी में इसे और घटाकर 700 रुपए पर फिक्स किया। इसके बाद मार्च 2022 में मैक्वायरी ने Paytm का टारगेट प्राइस सीधा 450 रुपए तय कर दिया है।

नतीजों में सुधार लेकिन शेयर बेहाल

Paytm की पेरेंट कंपनी वन97 कम्युनिकेशंस (One 97 Communications) का लॉस मार्च तिमाही में बढ़कर 761.4 करोड़ रुपए रहा था। पिछले साल इसी तिमाही में कंपनी का लॉस 441.8 करोड़ रुपए था। हालांकि दिसंबर 2021 तिमाही के मुकाबले मार्च 2022 तिमाही में लॉस जरूर कम था। दिसंबर 2021 तिमाही में One 97 Communications का लॉस 778 करोड़ रुपए था।

मार्च 2022 तिमाही में कंपनी की आमदनी 1540.9 करोड़ रुपए थी। यह पिछले साल की इसी तिमाही के मुकाबले 88.99% ज्यादा थी। मार्च 2021 तिमाही में कंपनी की आमदनी 815.3 करोड़ रुपए थी।

Paytm का रेवेन्यू ग्रोथ 89% रहा। यह गोल्डमैन सैक्स के अनुमान से 4% ज्यादा है। Paytm के जरिए होने वाली नॉन-UPI पेमेंट पिछली दो तिमाहियों से लगातार बढ़ रहा है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ