Ticker

99/recent/ticker-posts

MRF Q4: मुनाफा 50.6% घटकर 157 करोड़ रुपये पर आया, आय में दिखी 9.8% की बढ़ोतरी

 

MRF Q4: मुनाफा 50.6% घटकर 157 करोड़ रुपये पर आया, आय में दिखी 9.8% की बढ़ोतरी

इस वित्त वर्ष में कंपनी ने 2 अंतरिम डिविडेंड का भी ऐलान किया है। ऐसे में वित्त वर्ष 2022 के लिए कंपनी अब तक 1,501 रुपये प्रति शेयर का कुल लाभांश का ऐलान किया है

देश की दिग्गज टायर कंपनी एमआरएफ (MRF) ने 31 मार्च 2022 को समाप्त वित्त वर्ष 2021-22 के चौथी तिमाही के नतीजे घोषित कर दिए है। जिसके मुताबिक इस तिमाही में कंपनी का मुनाफा सालाना आधार पर 50.6 फीसदी घटकर 157 करोड़ रुपये पर आ गया है जो कि पिछले वित्त वर्ष की चौथी तिमाही में 317.3 करोड़ रुपये पर रहा था।

चौथी तिमाही में कंपनी की आय सालाना आधार पर 9.8 फीसदी घटकर 5,200.3 करोड़ रुपये पर आ गई है जो कि पिछले वित्त वर्ष की चौथी तिमाही में 4,738 करोड़ रुपये पर रही थी।

साल-दर -साल आधार पर चौथी तिमाही में कंपनी का एबिटडा 29.2 फीसदी घटकर 527.5 करोड़ रुपये पर रहा है जो कि पिछले साल की इसी तिमाही में 745.6 करोड़ रुपये पर रहा है। इसी तरह एबिटडा मार्जिन पिछले वित्त वर्ष के चौथी तिमाही के 15.7 फीसदी से घटकर 10.1 फीसदी पर आ गया।

कंपनी ने सूचित किया है कि उसको चौथी तिमाही में 87 करोड़ रुपये स्टेट सब्सिडी मिली है। अगर स्टेट सब्सिडी को निकाल दिया जाए तो चौथी तिमाही में एमआरएफ का मार्जिन पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि के 15.7 फीसदी से घटकर 8.6 फीसदी पर आ जाता है।

कंपनी ने अपने एक बयान में कहा है कि कंपनी पूरी तरह से रिकवर होने मे सफल नहीं रही है। कच्चे माल की कीमतों में कीतमों में भारी बढ़ोतरी देखने को मिली है। कच्चे माल की कीमतों में अब तक की अभूतपूर्व बढ़ोतरी देखने को मिली है। बाजार कीमतों में होने वाली बार-बार बढ़ोतरी को पचाने के लिए तैयार नहीं नजर आ रहा है। कोविड महामारी के कारण उत्पन्न परिस्थितियों की वजह से कंपनी के कारोबार को भारी चोट पहुंचा है।

यह भी बताते चले कि कंपनी ने आज अपने तिमाही नतीजे जारी करने के साथ ही शेयर धारकों के लिए 144 रुपये प्रति शेयर अंतिम डिविडेंड का भी ऐलान किया है। बता दें कि इस वित्त वर्ष में कंपनी ने 2 अंतरिम डिविडेंड का भी ऐलान किया है। ऐसे में वित्त वर्ष 2022 के लिए कंपनी अब तक 1,501 रुपये प्रति शेयर का कुल लाभांश का ऐलान किया है।

कंपनी के बोर्ड ने Samir Thariyan Mappillai और Varun Mammen को 4 अगस्त 2022 की प्रभावी तिथी से 5 साल की अवधि के लिए होल टाइम डायरेक्ट नियुक्त करने के प्रस्ताव को भी मंजूरी दी है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ