Ticker

99/recent/ticker-posts

चीन से आई अच्छी खबरों के दम पर मेटल शेयरों ने भरी उड़ान, जानिए क्या आगे भी कायम रहेगा ये जोश

 


मार्केट एनालिस्ट का मानना ​​है कि चीन की कारोबारी गतिविधियां फिर से पूरी क्षमता से खुलने से मेटल्स की मांग में बढ़ोतरी देखने को मिल सकती है इसके साथ ही ग्लोबल मार्केट में कमोडिटी कीमतों में तेजी आती नजर आ सकती है

दुनिया के सबसे बड़े कमोडिटी कंज्यूमर चीन से पॉजिटिव खबर आने के बाद सेंटीमेंट सुधरने से 31 मई को मेटल कंपनियों के शेयरों में तेजी देखने को मिली। चीन के शांघाई रीजन ने आज सुबह जानकारी दी कि पिछले कुछ महीनों कोविड-19 से निपटने के लिए लगाए गए प्रतिबंधों को हटाया जा रहा है। इस एलान के साथ ही चीन के शंघाई रीजन में कारोबारी गतिवधियां फिर से शुरू होती नजर आएंगी। इसके अलावा आज ही चीन के फैक्ट्री ग्रोथ आंकड़े आए हैं जो उम्मीद से बेहतर रहे हैं। इस खबर से भी मेटल शेयरों को बूस्ट मिला।

चीन के सबसे बड़े इंडस्ट्रियल रीजन में से एक शांघाई कोराना से सबसे ज्यादा प्रभावित इलाकों में था। इस इलाके में कोविड आउटब्रेक के बाद का अब तक का सबसे बड़ा संकट देखने को मिला था।

मई महीने में चीन का मैन्यूफैक्चरिंग पीएमआई 49.6 के स्तर पर रहा है। हालांकि इसके 48.7 पर रहने का अनुमान किया गया था। बता दें कि अप्रैल में चीन का मैन्यूफैक्चरिंग पीएमआई 47.4 के स्तर पर रहा था। कोविड के कारण लागू किए प्रतिबंधों के हटाने से मई में उत्पादन गतिविधियां बढ़ती नजर आई हैं।

चीनी सरकार यह सुनिश्चित करना चाहती है कि दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था 2022-23 के 5.5 प्रतिशत के जीडीपी विकास लक्ष्य को हासिल करे। अपने लक्ष्य के पूरा करने के लिए चीन में इकोनॉमी को राहत पैकेज दिया जा सकता है। इसके पहले इस महीने के शुरूआत में चीन के सेंट्रल बैंक ने देश की इकोनॉमी में लिक्विडिटी बढ़ाने के लिए अपनी ब्याज दरों में कटौती का एलान किया था।

मार्केट एनालिस्ट का मानना ​​है कि चीन की कारोबारी गतिविधियां फिर से पूरी क्षमता से खुलने से मेटल्स की मांग में बढ़ोतरी देखने को मिल सकती है इसके साथ ही ग्लोबल मार्केट में कमोडिटी कीमतों में तेजी आती नजर आ सकती है। ब्रोकरेज फर्म नोमुरा इंडिया सिक्योरिटीज का कहना है कि भारत सरकार द्वारा एक्सपोर्ट ड्यूटी लगाए जाने के बाद 27 मई को खत्म हुए हफ्ते में घरेलू बाजार में स्टील की कीमतों में भारी गिरावट देखने को मिली।

नोमुरा इंडिया ने एक नोट में कहा है कि दुनिया के बड़े एक्सपोर्ट मार्केट चीन में अभी स्टील सहित अधिकांश मेटल की मांग में गति आनी नहीं शुरू हुई है। चीन में डिमांड सेंटीमेंट में कमजोरी कायम है। वर्तमान में चीन सिर्फ बिल्डिंग बनाने वाले कॉन्ट्रैक्टरों की तरफ से आ रही जो अपनी फौरी जरूरत पूरा करने के लिए स्टील खरीद रहे हैं।

आज सुबह के कारोबारी सत्र में Welspun Corp, APL Apollo Tubes, Tata Steel, JSW Steel, SAIL, NMDC और Vedanta के शेयरों में एनएसई पर 1-2 फीसदी की तेजी देखने को मिली थी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ