Ticker

99/recent/ticker-posts

दिग्‍गज निवेशक मार्क मोबियस बोले- जितना टूट चुका, उतना ही और गिर सकता है शेयर बाजार

 

दिग्‍गज निवेशक मार्क मोबियस बोले- जितना टूट चुका, उतना ही और गिर सकता है शेयर बाजार

निफ्टी अपने ऑल टाइम हाई से लगभग 13 फीसदी टूट चुका है.

नई दिल्‍ली. भारतीय शेयर बाजार में काफी समय से उथल-पुथल जारी है. मंगलवार को भी निफ्टी हरे निशान में खुला, लेकिन कुछ समय बाद ही इसमें गिरावट आ गई. आज यह सूचकांक 89.55 अंकों की गिरावट के साथ 16,125.15 पर बंद हुआ है. यह अपने ऑल टाइम हाई से अब तक 13 फीसदी नीचे आ चुका है.

दुनिया के दिग्‍गज निवेशक मार्क मोबियस (Mark Mobius) का कहना है कि दुनियाभर के शेयर बाजारों में गिरावट जारी है. इस मंदी से भारतीय बाजार भी अछूते नहीं है. उनका कहना है कि भले ही भारतीय शेयर बाजार में गिरावट आए, परंतु अन्‍य शेयर बाजारों की तुलना में भारतीय शेयर बाजार का प्रदर्शन अच्‍छा रहेगा. इसलिए इसमें निवेशकों को निवेश करते रहना चाहिए.

30 फीसदी तक आ सकती है गिरावट

मनीकंट्रोल डॉट कॉम की एक रिपोर्ट के अनुसार, दुनिया के दिग्‍गज निवेशक मार्क मोबियस ने सीएनबीसी टीवी18 को दिए एक इंटरव्‍यू में कहा है कि भारतीय शेयर बाजार में अभी और गिरावट आएगी. भारतीय बाजार अपने ऑल टाइम हाई से 30 फीसदी तक फिसल सकते हैं. केवल भारतीय बाजार ही नहीं गिर रहे हैं बल्कि अन्‍य शेयर बाजार भी अब मंदी की चपेट में हैं.

मोबियस कैपिटल पार्टनर्स एलएलपी के फाउंडर और दुनिया के दिग्‍गज निवेशक का कहना है कि दूसरे बाजारों की तुलना में भारतीय बाजार का प्रदर्शन अच्छा रहेगा. मोबियस ने निवेशकों को सलाह दी है कि ऐसी भारतीय कंपनियों में निवेश करना चाहिए जिन पर कम कर्ज है और जिनकी प्राइसिंग पावर मजबूत है.

13 फीसदी तक आ चुकी है गिरावट

भारतीय शेयर बाजार में पिछले काफी दिनों से गिरावट जारी है. निफ्टी 50 अपने ऑल टाइम हाई 18,604 से अब तक 13 फीसदी टूट चुका है. निफ्टी में साल 2022 में अब तक 8.49 फीसदी लुढ़क चुका है. पिछले छह महीनों में इसमें 7.38 फीसदी की गिरावट आई है. पिछले महीने में ही इसने 4.86 फीसदी का गोता लगाया है.

इसी तरह बीएसई सेंसेक्‍स भी वर्ष 2022 में अब तक 8.74 फीसदी टूट चुका है. पिछले एक महीने में इसमें 4.54 फीसदी की गिरावट आई है तो पिछले छह महीने में यह 7.42 फीसदी टूट चुका है. विदेशी संस्थागत निवेशकों ने पिछले 8 महीनों के दौरान भारतीय इक्विटी बाजार में करीब 3.25 लाख करोड़ रुपए की बिकवाली की है.

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ