Ticker

99/recent/ticker-posts

Mahindra and Mahindra का Q4 प्रॉफिट तेज बढ़त के साथ 1,192 करोड़ रुपये, आय 28 प्रतिशत बढ़ी

 

Mahindra and Mahindra का Q4 प्रॉफिट तेज बढ़त के साथ 1,192 करोड़ रुपये, आय 28 प्रतिशत बढ़ी

महिंद्रा एंड महिंद्रा (Mahindra and Mahindra) ने शनिवार को अपने तिमाही नतीजे (Quarterly Results) जारी कर दिए हैं. कंपनी के मुताबिक 31 मार्च, 2022 को समाप्त तिमाही के लिए स्टैंडअलोन प्रॉफिट लगभग पांच गुना बढ़त के साथ 1,192 करोड़ रुपये पर पहुंच गया. कंपनी के मुताबिक कंपनी ने एक साल पहले की अवधि के लिए 245 करोड़ रुपये का लाभ कमाया था. प्रॉफिट में ये उछाल एक्सेप्शनल आइटम की वजह से दर्ज हुआ है. इसकी गणना न करने पर कंपनी का मुनाफा (Q4 net Profit) पिछले साल के मुकाबले 17 प्रतिशत बढ़ा है. एक्सेप्शनल आइटम की गणना न करने पर कंपनी का पिछले साल का प्रॉफिट 998 करोड़ रुपये था. वहीं मार्च तिमाही 2020-21 में 13,356 करोड़ रुपये की तुलना में कंपनी की आय 28 प्रतिशत बढ़कर 17,124 करोड़ रुपये पर पहुंच गई है. वही पूरे वित्तीय वर्ष 2021-22 में, कंपनी ने 4,935 करोड़ रुपये का एक स्टैंडअलोन प्रॉफिट दर्ज किया, वहीं 31 मार्च, 2021 को समाप्त वित्तीय वर्ष में कंपनी को 984 करोड़ रुपये का प्रॉफिट हुआ था.

कैसे रहे सेग्मेंट के प्रदर्शन

एमएंडएम ने कहा कि उसने वित्त वर्ष 22 के लिए ऑटो और फार्म सेगमेंट के लिए 55,300 करोड़ रुपये का अब तक की सबसे अधिक स्टैंडअलोन आय हासिल किया, जो पिछले वर्ष की तुलना में 29 प्रतिशत अधिक है. कंपनी ने साथ ही कहा कि उसके ऑटो सेग्मेंट ने Q4 में सबसे अधिक तिमाही यूवी (यूटिलिटी व्हीकल) वॉल्यूम दिया, जिसमें साल-दर-साल 42 प्रतिशत की वृद्धि हुई, जबकि वित्त वर्ष 22 के लिए फार्म इक्विपमेंट सेक्टर (FES) ट्रैक्टरों की बाजार हिस्सेदारी 40 प्रतिशत थी जिसमें साल दर साल के आधार पर करीब 2 प्रथिसत की बढ़त दर्ज हुई है. ऑटो निर्यात में भी पिछले वित्त वर्ष में 77 प्रतिशत की वृद्धि देखने को मिली, कंपनी के मुताबिक 17,500 ट्रैक्टरों का निर्यात के साथ ग्रोथ 66 प्रतिशत रही. कंपनी ने जानकारी दी कि Q4 में सेमीकंडक्टर आपूर्ति में सुधार हुआ, जिसके परिणामस्वरूप कंपनी ने किसी भी तिमाही का अब तक का सबसे अधिक यूवी वॉल्यूम दर्ज किया.

आगे भी ग्रोथ की उम्मीद

अनीश शाह, प्रबंध निदेशक और सीईओ, एमएंडएम ने कहा कि कोविड, कमोडिटी की कीमतों, सेमीकंडक्टर की कमी और यूक्रेन संघर्ष जैसी विभिन्न चुनौतियों के बावजूद हमने मजबूत प्रदर्शन किया है. और हमारी सभी कंपनियां विकास के अवसरों का लाभ उठाने की स्थिति में हैं. उनके मुताबिक ऑटोमोटिव प्रोडक्ट पोर्टफोलियो की मांग मजबूत बनी हुई है. इसी के साथ कंपनी के बोर्ड ने अपने निवेशकों के लिए 11.55 रुपये प्रति शेयर के डिविडेंड का ऐलान किया है.

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ