Ticker

99/recent/ticker-posts

Eris Lifesciences की हुई ओकनेट हेल्थकेयर

 

Eris Lifesciences की हुई ओकनेट हेल्थकेयर

ब्रांडेड फॉर्मूलेशन क्षेत्र की प्रमुख कंपनी एरिस लाइफसाइंसेज लिमिटेड ने 650 करोड़ रुपये के एक सौदे के तहत मुंबई की घरेलू फॉर्मूलेशन कंपनी ओकनेट हेल्थकेयर में शत प्रतिशत हिस्सेदारी के अधिग्रहण के साथ ही त्वचा औषधियों के क्षेत्र में दस्तक देने की घोषणा की है।

यह अधिग्रहण पूरी तरह शेयर खरीद समझौते के तहत किया गया है और इसलिए ओकनेट अब एरिस की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी बन जाएगी। इस सौदे के लिए 300 करोड़ रुपये आंतरिक संसाधनों से जुटाए गए जबकि उधारी के जरिये 350 करोड़ रुपये जुटाए गए।

वित्त वर्ष 2022 में 195 करोड़ रुपये के राजस्व आधार के साथ ओकनेट डरमैटोलॉजी में प्रमुख ब्रांड पोर्टफोलियो के साथ एरिस के पास आएगी। एरिस लाइफसाइंसेज के कार्यकारी निदेशक एवं मुख्य परिचालन अधिकारी वी कृष्णकुमार ने कहा कि इस अधिग्रहण के जरिये एरिस को कॉसवेट और कॉस्मेलाइट जैसे प्रमुख ब्रांड हासिल होंगे। इसके अलावा ओकनेट के अधिग्रहण से एरिस के स्पेशिएलिटी फ्रैंचाइजी कारोबार को भी बल मिलेगा।

एमेजॉन ने भारत से निर्यात लक्ष्य दोगुना किया

एमेजॉन ने कहा है कि एमेजॉन ग्लोबल सेलिंग कार्यक्रम पर भारतीय निर्यातकों द्वारा संचयी निर्यात 5 अरब डॉलर के रिकॉर्ड के पार जाने की ओर बढ़ रहा है। ई-कॉमर्स कंपनी ने एक्सपोट्र्स डाइजेस्ट 2022 भी जारी की है। इस कार्यक्रम के तहत नजर आ रही तेज वृद्घि से उत्साहित होकर एमेजॉन ने अपने निर्यात संकल्प को दोगुना कर दिया है जिसके तहत अब 2025 तक भारत से संचयी निर्यात को 20 अरब डॉलर पर पहुंचाया जाएगा।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ