Ticker

99/recent/ticker-posts

Delhivery IPO: खुल गया 5235 करोड़ का इश्यू, क्या 487 रु के शेयर पर लगाएं दांव, वैल्युएशन सस्ता है या महंगा?

 

Delhivery IPO: खुल गया 5235 करोड़ का इश्यू, क्या 487 रु के शेयर पर लगाएं दांव, वैल्युएशन सस्ता है या महंगा?


Delhivery IPO: खुल गया 5235 करोड़ का इश्यू, क्या 487 रु के शेयर पर लगाएं दांव, वैल्युएशन सस्ता है या महंगा?

Delhivery IPO Oen Today: Delhivery ने आईपीओ के तहत प्राइस बैंड 462-487 रुपये प्रति शेयर तय किया है. इश्यू के जरिए कंपनी की 5235 करोड़ रुपये जुटाने की योजना है।

Delhivery IPO Open Today: भारत की लॉजिस्टिक सर्विस प्रोवाइडर कंपनी Delhivery का आईपीओ (IPO) सब्सक्रिप्शन के लिए आज यानी 15 मई से खुल रहा है. यह निवेश के लिए 13 मई तक खुला रहेगा. इश्यू के जरिए कंपनी की 5235 करोड़ रुपये जुटाने की योजना है. इस लिहाज से यह एलआईसी के बाद साल 2022 का दूसरा सबसे बड़ा IPO है. इस इश्यू के तहत 4 हजार करोड़ रुपये के नए शेयर जारी होंगे, वहीं 1235 करोड़ का OFS होगा. इसके लिए कंपनी ने प्राइस बैंड 462-487 रुपये प्रति शेयर तय किया है. क्या आपको इस इश्यू में पैसे लगाने चाहिए, वह भी जब बाजार में उतार चढ़ाव का दौर चल रहा है।

Samco Securities: AVOID,

Samco Securities की इक्विटी रिसर्च हेड येशा शाह का कहना है कि कंपनी पर आगे भी इंडियन लॉजिस्टिक्स बिजनेस जबरदस्त एक्शपेंशन के लिए तैयार है. वहीं Delhivery तेजी से बढ़ते ई-कॉमर्स बाजार पर फोकस करने के साथ आगे मजबूत ग्रोथ पोटेंशियल दिखा रहा है. कंपनी का रेवेन्यू तेजी से बढ़ रहा है लेकिन कंपनी का EBITDA और आपरेशन से कैश फ्लो निगेटिव बना हुआ है. उनका कहना है कि बढ़ती फ्यूल कास्ट के चलते शॉर्ट टर्म में कंपनी पर कास्ट प्रेशर बना रहेगा. इसके अलावा, इश्यू का वैल्युएशन पियर्स की तुलना में कुछ ज्यादा नजर आ रहा है. यह FY22 के एनुअल रेवेन्यू के 5.5 गुना प्राइस टु सेल्स पर है. मौजूदा रेट हाइक साइकिल के माहौल में दुनिया भर में हाई ग्रोथ कंपनियों के वैल्युएशन में कमी आ रही है. इसे ध्यान में रखते हुए इस इश्यू में AVOID रेटिंग है।

Angel One: NEUTRAL,

ब्रोकरेज हाउस Angel One ने इश्यू पर न्यूट्रल रुख दिया है. इसके पीछे इश्यू के वैल्युएशन को एक्सपेंसिव बताया है. 9MFY22 में कंपनी का EBITDA लॉस 232 करोड़ और नेट लॉस 891 करोड़ रुपये रहा है. हालांकि इस दौरान कंपनी का रेवेन्यू 82 फीसदी बढ़ा है. जिससे आगे EBITDA पॉजिटिव हो सकता है. e-commerce सर्विसेज में स्लोडाउन भी कंपनी के बिजनेस पर नियरटर्म में असर डाल सकता है. एक और ध्यान देने वाली बात यह है कि इसके कुल रेवेन्यू में टॉप 5 कस्टमर्स का योगदान 41 फीसदी है।

Yes Securities: SUBSCRIBE,

हालांकि Yes Securities से SUBSCRIBE की रेटिंग दी है. ब्रोकरेज का मानना है कि एसेट लाइट बिजनेस मॉडल और आटोमेशन कैपेबिलिटी का फायदा आगे कंपनी को मिलेगा. आने वाले दिनों में कंपनी का मुनाफा बेहतर होने की उम्मीद है. कंपनी का कस्टमर्स के साथ रिलेशन बेहद मजबूत है, जिसका फायदा मिल सकता है।

Delhivery IPO के बारे में,

Delhivery के आईपीओ का साइज 5235 करोड़ रुपये है. इसके तहत 4 हजार करोड़ रुपये के नए शेयर जारी होंगे और मौजूदा शेयरधारक ऑफर फॉर सेल (OFS) के तहत 1235 करोड़ रुपये के शेयरों की बिक्री करेंगे. कंपनी 462-487 रुपये प्रति शेयर का प्राइस बैंड तय किया है और लॉट साइज 30 शेयरों का है. निवेशकों को कम से कम 14,610 रुपये का निवेश करना होगा. कर्मचारियों के लिए 25 रुपये प्रति शेयर का डिस्काउंट है. शेयरों का अलॉटमेंट 19 मई को फाइनल हो सकता है और लिस्टिंग 24 मई को हो सकती है।

किसके लिए कितना रिजर्व,

इश्यू का 75 फीसदी हिस्सा क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल बॉयर्स (QIB), 10 फीसदी हिस्सा रिटेल निवेशकों और 15 फीसदी हिस्सा नॉन-इंस्टीट्यूशनल इंवेस्टर्स (NII) के लिए रिजर्व किया गया है. कोटक महिंद्रा कैपिटल कंपनी, मॉर्गन स्टैनले, इंडिया कंपनी, बोफा सिक्योरिटीज इंडिया और सिटीग्रुप ग्लोबल मार्केट्स इंडिया प्राइवेट इश्यू के लीड मैनेजर हैं. इश्यू के लिए रजिस्ट्रार लिंक इनटाइम इंडिया प्राइवेट लिमिटेड है. नए शेयरों को जारी कर जुटाए गए पैसों का इस्तेमाल ऑर्गेनिक ग्रोथ, अधिग्रहण व रणनीतिक शुरुआत के जरिए इनऑर्गेनिक ग्रोथ और आम कॉरपोरेट उद्देश्यों के लिए किया जाएगा.

कंपनी का फाइनेंशियल,

कंपनी को वित्त वर्ष 2018-19 में 1783.30 करोड़ रुपये का नेट लॉस हुआ था. वित्त वर्ष 2019-20 में 268.93 करोड़ रुपये और वित्त वर्ष 2020-21 में 415.75 करोड़ रुपये के नेट लॉस हुआ था. पिछले वित्त वर्ष 2021-22 के शुरुआती नौ महीने में कंपनी को 891.14 करोड़ रुपये का नेट लॉस हुआ था।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ