Ticker

99/recent/ticker-posts

केनरा बैंक के मुनाफे में जोरदार उछाल, शेयरधारकों को प्रति शेयर मिलेगा इतना डिविडेंड

केनरा बैंक के मुनाफे में जोरदार उछाल, शेयरधारकों को प्रति शेयर मिलेगा इतना डिविडेंड

मार्च 2022 तिमाही में केनरा बैंक का शुद्ध मुनाफा 65 फीसदी बढ़ा है. यह मार्च 2021 के 1,010 करोड़ रुपये के मुकाबले 1,670 करोड़ रुपये पर पहुंच गया है. इस दौरान बैंक की आमदनी में भी इजाफा हुआ है. चौथी तिमाही में केनरा बैंक की आमदनी 22,320 करोड़ रुपये पर पहुंच गई है. मार्च 2021 में आमदनी 21,040 करोड़ रुपये रही थी।

नई दिल्ली. सार्वजनिक क्षेत्र के केनरा बैंक के मुनाफे में जोरदार उछाल दर्ज किया गया है. जनवरी-मार्च 2022 तिमाही में प्रोविजनिंग घटकर आधे से भी ज्यादा रहने की वजह से बैंक का मुनाफा बढ़ा है. केनरा बैंक ने अपने शेयरधारकों को वित्त वर्ष 2021-22 के लिए डिविडेंड देने का भी ऐलान कर दिया है.

मार्च 2022 तिमाही में केनरा बैंक का शुद्ध मुनाफा 65 फीसदी बढ़ा है. यह मार्च 2021 के 1,010 करोड़ रुपये के मुकाबले 1,670 करोड़ रुपये पर पहुंच गया है. इस दौरान बैंक की आमदनी में भी इजाफा हुआ है. चौथी तिमाही में केनरा बैंक की आमदनी 22,320 करोड़ रुपये पर पहुंच गई है. मार्च 2021 में आमदनी 21,040 करोड़ रुपये रही थी।

6.5 रुपये प्रति शेयर डिविडेंड

शेयर बाजारों को भेजी सूचना में केनरा बैंक ने बताया है कि 6 मई को हुई बोर्ड मीटिंग में शेयरधारकों को डिविडेंड देने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी गई है. बैंक वित्त वर्ष 2021-22 के लिए शेयरधारकों को 10 रुपये फेस वैल्यू वाले प्रति इक्विटी शेयर पर 6.5 रुपये का डिविडेंड देगा. अब इस प्रस्ताव पर सालाना आम बैठक (एजीएम) की मंजूरी जरूरी है।

एनपीए प्रोविजनिंग 50 फीसदी घटी

जनवरी-मार्च 2022 में एनपीए (नॉन-परफॉर्मिंग एसेट्स) के लिए की जाने वाली प्रोविजनिंग 50 फीसदी से ज्यादा घट गई है. यह मार्च 2021 के 4,430 करोड़ रुपये की तुलना में 2,130 करोड़ रुपये रह गई है. हालांकि, नेट प्रोविजनिंग 3,650 करोड़ रुपये से बढ़कर 3,710 करोड़ रुपये हो गई है. बैंक का ग्रॉस एनपीए 60,287.84 करोड़ रुपये से घटकर 55,651.58 करोड़ रुपये रह गया है।

कैनरा बैंक (Canara Bank)

मार्च 2022 तिमाही में केनरा बैंक का शुद्ध मुनाफा 65 फीसदी बढ़ा है. यह मार्च 2021 के 1,010 करोड़ रुपये के मुकाबले 1,670 करोड़ रुपये पर पहुंच गया है. इस दौरान बैंक की आमदनी में भी इजाफा हुआ है. चौथी तिमाही में केनरा बैंक की आमदनी 22,320 करोड़ रुपये पर पहुंच गई है. मार्च 2021 में आमदनी 21,040 करोड़ रुपये रही थी।

नई दिल्ली. सार्वजनिक क्षेत्र के केनरा बैंक के मुनाफे में जोरदार उछाल दर्ज किया गया है. जनवरी-मार्च 2022 तिमाही में प्रोविजनिंग घटकर आधे से भी ज्यादा रहने की वजह से बैंक का मुनाफा बढ़ा है. केनरा बैंक ने अपने शेयरधारकों को वित्त वर्ष 2021-22 के लिए डिविडेंड देने का भी ऐलान कर दिया है.

मार्च 2022 तिमाही में केनरा बैंक का शुद्ध मुनाफा 65 फीसदी बढ़ा है. यह मार्च 2021 के 1,010 करोड़ रुपये के मुकाबले 1,670 करोड़ रुपये पर पहुंच गया है. इस दौरान बैंक की आमदनी में भी इजाफा हुआ है. चौथी तिमाही में केनरा बैंक की आमदनी 22,320 करोड़ रुपये पर पहुंच गई है. मार्च 2021 में आमदनी 21,040 करोड़ रुपये रही थी।

6.5 रुपये प्रति शेयर डिविडेंड

शेयर बाजारों को भेजी सूचना में केनरा बैंक ने बताया है कि 6 मई को हुई बोर्ड मीटिंग में शेयरधारकों को डिविडेंड देने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी गई है. बैंक वित्त वर्ष 2021-22 के लिए शेयरधारकों को 10 रुपये फेस वैल्यू वाले प्रति इक्विटी शेयर पर 6.5 रुपये का डिविडेंड देगा. अब इस प्रस्ताव पर सालाना आम बैठक (एजीएम) की मंजूरी जरूरी है।

एनपीए प्रोविजनिंग 50 फीसदी घटी

जनवरी-मार्च 2022 में एनपीए (नॉन-परफॉर्मिंग एसेट्स) के लिए की जाने वाली प्रोविजनिंग 50 फीसदी से ज्यादा घट गई है. यह मार्च 2021 के 4,430 करोड़ रुपये की तुलना में 2,130 करोड़ रुपये रह गई है. हालांकि, नेट प्रोविजनिंग 3,650 करोड़ रुपये से बढ़कर 3,710 करोड़ रुपये हो गई है. बैंक का ग्रॉस एनपीए 60,287.84 करोड़ रुपये से घटकर 55,651.58 करोड़ रुपये रह गया है।

हफ्ते के अंतिम कारोबारी दिन शुक्रवार को दोपहर के कारोबार में केनरा बैंक का शेयर 1.94 फीसदी की गिरावट के साथ 220.40 रुपये पर पहुंच गया था. सुबह के कारोबार में इसमें एक समय 4.5 फीसदी की गिरावट आ गई थी. उस समय यह दिन के सबसे निचले स्तर 212.60 रुपये पर पहुंच गया था।


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ