Ticker

99/recent/ticker-posts

हायर का वॉशिंग मशीन बाजार में 10-12% की हिस्सेदारी हासिल करने का लक्ष्य

 

हायर का वॉशिंग मशीन बाजार में 10-12% की हिस्सेदारी हासिल करने का लक्ष्य

हायर अप्लायंसेज इंडिया इस साल वॉशिंग मशीन बाजार में 10 से 12 प्रतिशत की बाजार हिस्सदेारी हासिल करने का लक्ष्य लेकर चल रही है। कंपनी उत्पाद श्रेणी का विस्तार कर रही है और खुदरा मौजूदगी भी बढ़ा रही है। कंपनी ने बुधवार को ही कृत्रिम मेधा (एआई)

नई दिल्लीः हायर अप्लायंसेज इंडिया इस साल वॉशिंग मशीन बाजार में 10 से 12 प्रतिशत की बाजार हिस्सदेारी हासिल करने का लक्ष्य लेकर चल रही है। कंपनी उत्पाद श्रेणी का विस्तार कर रही है और खुदरा मौजूदगी भी बढ़ा रही है। कंपनी ने बुधवार को ही कृत्रिम मेधा (एआई) और आईओटी (इंटरनेट ऑफ थिंग्स) से लैस स्मार्ट व पूर्ण रूप से स्वचालित वॉशिंग मशीनों की नई श्रृंखला उतारी है। हायर दुकानों में अपनी मौजूदगी बढ़ाना चाहती है और ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए निवेश भी करेगी। 

हायर अप्लायंसेज इंडिया के अध्यक्ष सतीश एन एस ने कहा कि अभी हायर की वॉशिंग मशीन 18,000 से 20,000 दुकानों में बिकती हैं, अब कंपनी इसे बढ़ाकर 27,000 करना चाहती है। उन्होंने कहा, ‘‘वॉशिंग मशीन बाजार में हमारी हिस्सेदारी सात से आठ फीसदी है और हम इसे 2022 के अंत तक बढ़ाकर 10 से 12 प्रतिशत करना चाहते हैं। इस लक्ष्य को पाने के लिए नए उत्पाद भी बाजार में उतारे जाएंगे।'' भारत में वॉशिंग मशीन का अनुमानित बाजार करीब 90 लाख इकाई सालाना का है, जिनमें से सेमी-ऑटोमैटिक और पूर्ण ऑटोमैटिक की संख्या बराबर यानी 45-45 लाख इकाई की है। 

हायर प्रचार अभियानों और डिजिटल मार्केटिंग में करीब 15-18 करोड़ रुपए खर्च करने वाली है। कंपनी पुरानी मशीनों की जगह नए मशीनों के क्षेत्र पर भी ध्यान दे रही है। कंपनी के वॉशिंग मशीनों में 85 से 90 मॉडल हैं और ज्यादातर का विनिर्माण पुणे और नोएडा के कारखानों में होता है। 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ