Ticker

99/recent/ticker-posts

Big News: CITY GROUP के एक ट्रेडर की गलती से यूरोपियन मार्केट हुआ था क्रैश, निवेशकों के डूब गए अरबों डॉलर

 

Big News: CITY GROUP के एक ट्रेडर की गलती से यूरोपियन मार्केट हुआ था क्रैश, निवेशकों के डूब गए अरबों डॉलर

सोमवार को यूरोपियन देशों के प्रमुख बाजारों (Stock Market) में आई तेज गिरावट एक ट्रेडर की गलती की वजह से दर्ज हुई थी. आज अमेरिकी बैंक सिटीग्रुप (Citi group) ने ये जानकारी दी, बैंक के मुताबिक उसके एक ट्रेडर ने सौदा भरते वक्त एक बड़ी गलती कर दी थी जिसकी वजह से यूरोप के बाजारों में फ्लैश क्रेश देखने को मिला, फ्लैश क्रैश बाजार में बेहद कम समय में आने वाली तेज गिरावट के कहते हैं. इस गिरावट से एक समय बाजारों में स्टॉक्स (Stock trading) का मार्केट कैप 315 अरब डॉलर तक घट गया. हालांकि अगले कुछ मिनटों में ही बाजार अपना अधिकांश नुकसान भरने में सफल रहा.

क्या था मामला

सोमवार के कारोबार में यूरोपियन बाजारों में सुबह के समय अचानक तेज गिरावट देखने को मिली. सबसे ज्यादा नुकसान नॉर्डिक क्षेत्र के बाजारों में देखने को मिला और इसका असर यूरोपियन बाजारों तक पहुंचा. गिरावट इतनी तेज थी कि स्टॉकहोम 30 इंडेक्स सिर्फ 5 मिनट के अंदर 8 प्रतिशत तक टूट गया. हालांकि 5 मिनट के अंदर ही इंडेक्स संभला और गिरावट कम होकर 1 प्रतिशत के करीब आ गई. क्रैश के साथ ही नैस्डेक स्टॉकहोम ने आशंका जताई थी कि किसी मार्केट पार्टिसिपेंट ने कोई बड़ी गलती कर दी है, जिसका असर बाजारों पर देखने को मिला है. नैस्डैक स्टॉकहोम ने साफ कर दिया कि कोई भी सौदा रद्द नहीं किया जाएगा यानि फ्लैश क्रैश के दौरान अगर किसी निवेशक ने अपने शेयर बेचे हैं तो उसे नुकसान उठाना पड़ेगा.

क्या होता है फ्लैश क्रैश

फ्लैश क्रैश बाजार में बेहद कम समय में होने वाली गिरावट को कहते हैं. इसके पीछे कई वजह हो सकती हैं, शेयर बाजार के इतिहास पर नजर डालें तो अफवाहों यहां तक कि न्यूज वेबसाइट हैक कर गलत ट्वीट से भी फ्लैश क्रैश हुआ है. सोमवार को यूरोपियन बाजारों में जो फ्लैश क्रैश हुआ था उसे बाजारों में फैट फिंगर के नाम से जाना जाता है, यानि सौदा भरते वक्त गलती से कुछ और भर देना. अगस्त 2012 में नाइट कैपिटल के कंप्यूटर की गलती की वजह से अमेरिकी बाजारों में तेज गिरावट देखने को मिली थी, जिसके लिए नाइट कैपिटल को 44 करोड़ डॉलर का नुकसान उठाना पड़ा था. वहीं अक्टूबर 2013 में सिंगापुर बाजार में एक फ्लैश क्रैश की वजह से कुछ स्टॉक्स की कीमतों में 87 प्रतिशत की गिरावट देखने को मिली थी, जिसके बाद इस स्थिति से बचने के लिये नियम बना दिए गये थे.

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ