Ticker

99/recent/ticker-posts

अजंता फार्मा का शेयर कमजोर Q4 के चलते 52 हफ्ते के निचले स्तर पर, बोनस इश्यू से भी नहीं मिला सहारा

 

अजंता फार्मा का शेयर कमजोर Q4 के चलते 52 हफ्ते के निचले स्तर पर, बोनस इश्यू से भी नहीं मिला सहारा

मोतीलाल ओसवाल ने कहा है कि इन्होंने कंपनी का FY23/FY24 के लिए EPS अनुमान को 6 /7 प्रतिशत तक घटाया है

अजंता फार्मा (Ajanta Pharma) के शेयरों में गिरावट देखने को मिली है। ये शेयर ने आज यानी 11 मई 2022 को बीएसई पर 52-हफ्ते के निचले स्तर 1,593 रुपये तक फिसल गया। वित्त वर्ष 2022 की मार्च तिमाही (Q4FY22) के लिए कमजोर ऑपरेशनल परफॉर्मेंस के कारण बुधवार को इंट्रा-डे ट्रेड में शेयर में कमजोरी नजर आई। हालांकि बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स ने प्रत्येक 2 रुपये के शेयर पर 1:2 इक्विटी शेयर के अनुपात में बोनस इश्यू को मंजूरी दी है।

ये स्टॉक आज लगातार छठे कारोबारी दिन में गिरावट के साथ कारोबार कर रहा था। इस अवधि के दौरान ये शेयर 12 प्रतिशत तक गिर गया। आज सुबह 11:58 बजे यह एसएंडपी बीएसई सेंसेक्स में 0.61 प्रतिशत की गिरावट के मुकाबले 2.5 प्रतिशत की गिरावट के साथ 1,616 रुपये पर कारोबार कर रहा था।

अजंता फार्मा स्पेशल औषधियां बनाने वाली फार्मा कंपनी है। ये कंपनी भारत में ब्रांडेड जेनेरिक दवाईयों में कारोबार करती है। इसके अलावा अमेरिका में जेनेरिक औषधि का कारोबार और अफ्रीका में भी कंपनी का बिजनेस है।

सालाना आधार पर वित्त वर्ष 2022 की चौथी तिमाही (Q4FY22) में अजंता फार्मा का ebitda 20 प्रतिशत घटकर 207 करोड़ रुपये हो गया। वहीं सालाना आधार पर कंपनी की ebitda margin लोअर ग्रॉस मार्जिन (531 बीपीएस नीचे) और उच्च अन्य खर्चों के कारण 1,053 बीपीएस घटकर 23.7 प्रतिशत हो गई।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ