Ticker

99/recent/ticker-posts

Reliance के शेयर पहुंचे रिकॉर्ड ऊंचाई पर, 19 लाख करोड़ रुपये मार्केट कैप वाली पहली भारतीय कंपनी

 

Reliance के शेयर पहुंचे रिकॉर्ड ऊंचाई पर, 19 लाख करोड़ रुपये मार्केट कैप वाली पहली भारतीय कंपनी

एक्सपर्ट्स के मुताबिक Reliance में 3000 रुपये के स्तर तक रैली देखने को मिल सकती है जबकि नीचे की तरफ 2500 पर मजबूत सपोर्ट बना हुआ है

रिलायंस इंडस्ट्रीज (Reliance Industries) के शेयर आज रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंच गये। कंपनी के शेयरों ने कमजोर ब्रॉडर मार्केट को पीछे छोड़ दिया। आज शुरुआती कारोबार में Reliance का शेयर रिकॉर्ड ऊंचाई के स्तर को छू गया। RIL के शेयर 1% बढ़कर 2,802 के स्तर पर पहुंच गए। इस बढ़त की वजह से कंपनी की मार्केट कैप में भी जोरदार इजाफा देखने को मिला। कंपनी की मार्केट कैप 19 लाख करोड़ रुपये के पार पहुंच गई।

रिलायंस के शेयर आज करीब 20 रुपये प्रति शेयर की गिरावट के साथ खुले लेकिन जल्द ही इसमें बढ़त देखने को मिली। मिंट में छपी खबर के मुताबिक ओपनिंग बेल के कुछ ही मिनटों के अंदर ही यह एनएसई पर 2,826 प्रति शेयर के अपने नए लाइफ टाइम हाई के उच्च स्तर पर पहुंच गया। सुबह की डील्स में लगभग 1.25 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई। इस दौरान सेंसेक्स का हैवीवेट माना जाने वाला ये शेयर 19 लाख करोड़ का मार्केट कैप को पार कर गया। इसके साथ ही 19 लाख करोड़ रुपये के मार्केट कैप को हिट करने वाली रिलायंस पहली भारतीय कंपनी बन गई।

Profitmart securities के अविनाश गोरक्षकर के मुताबिक सिंगापुर जीआरएम का रिकॉर्ड उच्च स्तर पर बढ़ गया है। रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर मूल्य रैली और इसका मार्केट कैप 19 लाख करोड़ तक पहुंचने का यही प्रमुख कारण है। उन्होंने कहा कि सिंगापुर जीआरएम में हर एक अमेरिकी डॉलर की वृद्धि के बाद, रिलायंस इंडस्ट्रीज की कमाई लगभग 4 रुपये बढ़ जाती है। रूस-यूक्रेन युद्ध के बाद, सिंगापुर जीआरएम लगभग 7 से 8 डॉलर तक बढ़ गया है। इसके चलते रिलायंस पेट्रोकेमिकल्स के चौथी तिमाही के नतीजे मजबूत आने की उम्मीद है।

अविनाश गोरक्षकर के विचारों से सहमति जताते हुए Swastika Investmart Ltd संतोष मीणा ने कहा, "रिलायंस इंडस्ट्रीज सभी सेगमेंट अच्छा कारोबार कर रही है। इसका पेट्रोकेमिकल कारोबार तेल और गैस की कीमतों में उछाल के चलते शानदार तेजी दिखा रहा है। जबकि सिंगापुर जीआरएम अब तक के उच्चतम स्तर पर पहुंच गया है। रिलायंस के दूरसंचार कारोबार पर भू-राजनीतिक तनाव और मुद्रास्फीति का असर नहीं हुआ है। कंपनी अपने रिटेल कारोबार के लिए सिनर्जीस की तलाश कर रहा है। यह renewable energy के कारोबार में लगातार विस्तार कर रहा है। इससे कंपनी के लिए अधिक मौके बन रहे हैं।"

उन्होंने आगे कहा “तकनीकी रूप से रिलायंस के शेयर ने 2250 के स्तर पर एक मजबूत आधार बनाया है, फिर इसमें एक स्मार्ट रैली देखी गई है। ऊपर की तरफ इसमें 3000 रुपये के स्तर की ओर बढ़ने की क्षमता है। वहीं नीचे की तरफ फिसलने पर स्टॉक में 2500 रुपये के स्तर पर तत्काल और मजबूत सपोर्ट नजर आ रहा है।"

डिस्क्लेमरः वेबसाइट पर दिए जाने वाले विचार और निवेश सलाह निवेश विशेषज्ञों के अपने निजी विचार और राय होते हैं। यूजर्स को सलाह देता है कि वह कोई निवेश निर्णय लेने के पहले सर्टिफाइड एक्सपर्ट से सलाह लें। )

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ