Ticker

99/recent/ticker-posts

Rainbow Children's Medicare Ipo आज से खुला, यहां जानिये 10 अहम बातें

 

Rainbow Children's Medicare Ipo आज से खुला, यहां जानिये 10 अहम बातें

Rainbow Children's Medicare Ipo Opens का प्राइस बैंड 516 रुपए से 542 रुपए तक है। इसके अलावा, कंपनी कर्मचारी आरक्षण श्रेणी के तहत पात्र कर्मचारियों को 20 रुपए की छूट प्रदान करती है। लाॅट साइज 27 इक्विटी शेयरों और उसके मल्टीपल में है।

Rainbow Children's Medicare Ipo Opens From Today, Know Here 10 Important Things

Rainbow Children's Medicare Ipo Opens : हैदराबाद स्थित हेल्थकेयर कंपनी रेनबो चिल्ड्रन मेडिकेयर बुधवार को अपना आईपीओ लॉन्च कर दिया है। यह इश्यू सब्सक्रिप्शन के लिए 29 अप्रैल तक स्टॉक एक्सचेंजों पर अवेलेबल रहेगा। आईपीओ का प्राइस बैंड 516 रुपए से 542 रुपए तक है। इसके अलावा, कंपनी कर्मचारी आरक्षण श्रेणी के तहत पात्र कर्मचारियों को 20 रुपए की छूट प्रदान करती है। लाॅट साइज 27 इक्विटी शेयरों और उसके मल्टीपल में है।  एक खुदरा निवेशक को अधिकतम 2 लाख तक की सदस्यता लेने की अनुमति है, जबकि कर्मचारी अधिकतम 5 लाख रुपए तक की बोली लगा सकते हैं। आईपीओ का साइज करीब 1,580 रुपए करोड़ है।

रेनबो आईपीओ के 10 अहम प्वाइंट्स

1. आईपीओ में 280 करोड़ रुपए का एक नया इश्यू शामिल है। जबकि कंपनी के प्रमोटर और निवेशक लगभग 1,300 करोड़ रुपए की राशि के 2.4 करोड़ इक्विटी शेयरों की बिक्री की पेशकश (ओएफएस) करेंगे।

2. ओएफएस में बेचने वाले शेयरधारक  प्रमोटर डॉ रमेश कंचारला, डॉ दिनेश कुमार चिरला, पद्म कंचारला और डॉ आदर्श कंचारला हैं। जबकि ब्रिटिश इंटरनेशनल इन्वेस्टमेंट पीएलसी और सीडीसी इंडिया जैसे निवेशक भी ओएफएस में भाग ले रहे हैं।

3. कुल आईपीओ साइज में 50 फीसदी हिस्सा योग्य संस्थागत खरीदारों (क्यूआईबी) के लिए आरक्षित है, 15 फीसदी गैर-संस्थागत खरीदारों (एनआईआई) के लिए रखा गया है, और 35 फीसदी खुदरा व्यक्तिगत निवेशकों (आरआईआई) के लिए आरक्षित है।

4. इश्यू के खुलने से पहले ही रेनबो आईपीओ ने एंकर निवेशकों से लगभग 470 करोड़ रुपए जुटा लिए हैं। बीएसई के आंकड़ों के अनुसार, एंकर निवेशकों को कुछ 8,663,404 इक्विटी शेयर 542 प्रति शेयर कुल मिलाकर 469.55 करोड़ रुपए पर आवंटित किए गए थे।

5. कोटक महिंद्रा कैपिटल, जेपी मॉर्गन और आईआईएफएल सिक्योरिटीज जैसी कंपनियां इश्यू के लिए बुक रनिंग लीड मैनेजर के रूप में काम कर रही हैं।

6. रेनबो चिल्ड्रन मेडिकेयर भारत में एक प्रमुख मल्टी स्पेशियलटी पीडियाट्रिक और आॅब्सेट्रिक्स आैर गायनाकाॅलोजी अस्पताल रेंज है, जो 31 दिसंबर, 2021 तक 1,500 बिस्तरों की कुल क्षमता के साथ छह शहरों में 14 अस्पतालों और तीन क्लीनिकों का संचालन करती है।

7. 31 दिसंबर, 2021 को समाप्त नौ महीनों और वित्तीय वर्ष 2021, 2020 और 2019 के आॅपरेशन से कंपनी का राजस्व क्रमशः 7,613.11 मिलियन रुपए, 6,500.47 मिलियन रुपए, 7,193.91 मिलियन रुपए और 5,427.92 मिलियन रुपए था। इसी अवधि के लिए, इस अवधि के लिए इसका लाभ क्रमशः 1,264.13 मिलियन रुपए, 395.68 मिलियन रुपए, 553.40 मिलियन रुपए और 445.90 मिलियन रुपए था।

8. कंपनी इन शहरों में प्रतिष्ठित, अनुभवी और कुशल हृदय विशेषज्ञों को काम पर रखकर बेंगलुरु, कर्नाटक, चेन्नई, तमिलनाडु और नई दिल्ली-एनसीआर जैसे शहरों में पीडियाट्रिक क्वार्टरनरी देखभाल सेवाओं का निर्माण करने की योजना बना रही है। इसके अलावा, यह विशेष चिकित्सा अवसंरचना जैसे कि कैथ लैब, पीडियाट्रिक कार्डियक ओटी, और इकोकार्डियोग्राम मशीनों में निवेश करना चाहता है, जो हृदय रोगियों के इलाज में उनकी क्षमताओं को बढ़ाएगा।

9. डिलीवरी वॉल्यूम के मामले में रेनबो का एक मजबूत ट्रैक रिकॉर्ड है। यह वित्तीय वर्ष 2019 में 10,632 प्रसव से बढ़कर वित्तीय वर्ष 2020 और 2021 में क्रमशः 12,582 और 13,287 हो गया है, जो 11.79 फीसदी की सीएजीआर दर्ज कर रहा है। 31 दिसंबर, 2021 को समाप्त नौ महीनों के लिए कंपनी की डिलीवरी वॉल्यूम 10,826 थी।

10. अगले पांच वित्तीय वर्षों में, मजबूत विकास कारकों के मुकाबले बाल चिकित्सा बाजार के विस्तार की उम्मीद है। क्रिसिल रिसर्च को उम्मीद है कि वित्तीय वर्ष 2020 और 2026 के बीच बाल चिकित्सा स्वास्थ्य बाजार में 13 फीसदी की सीएजीआर से वृद्धि होगी। वित्तीय वर्ष 2016 और 2020 के बीच बाजार में 12 फीसदी की सीएजीआर की वृद्धि हुई है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ