Ticker

99/recent/ticker-posts

Q4 के रिजल्ट के बाद IEX के शेयर में गिरावट आई, क्या अभी आपको खरीदना चाहिए?

 

Q4 के रिजल्ट के बाद IEX के शेयर में गिरावट आई, क्या अभी आपको खरीदना चाहिए?

नई दिल्ली . इंडियन एनर्जी एक्सचेंज (IEX) की चौथी तिमाही के रिजल्ट के बाद बीएसई पर शुरुआती कारोबार में इसके शेयर 3 फीसदी लुढ़ककर 213 रुपए पर आ गए. हालांकि, बाद में इसमें थोड़ा सुधार हुआ. आज गुरुवार को करीब 1.10 बजे बीएसई पर यह शेयर -2.89 फीसदी की गिरावट के साथ 213.05 रुपये पर कारोबार कर रहा था.

पिछले वित्त वर्ष की तुलना में इंडियन एनर्जी एक्सचेंज का कंसोलिडेट नेट प्रॉफिट 45 फीसदी बढ़ा है. देश के इस बड़े इलेक्ट्रिसिटी एक्सचेंज ने 88 करोड़ रुपए का कंसोलिडेट नेट प्रॉफिट दर्ज किया है. दूसरी ओर इसने चौथी तिमाही के रिजल्ट में मार्जिन में कमी की जानकारी दी है. साथ ही, कंपनी का रेवेन्यू भी उम्मीद से कम है. ऐसे में सवाल उठता है कि क्‍या इसके शेयर खरीदने का भी सही समय है

क्‍या कहते हैं एक्‍सपर्ट

लाइव मिंट के अनुसार, जीसीएल सिक्योरिटीज के वाइस चेयरमैन रवि सिंघल का मानना है कि इंडियन एनर्जी एक्सचेंज के शेयर शॉर्ट टर्म में कुछ दबाव महसूस कर सकते हैं. इसका मजबूत सपोर्ट लेवल 190 रुपये है. उनका मानना है कि 200 रुपये या 200 रुपये से कम की गिरावट पर निवेशक लघु से मध्यम अवधि के लिए इसे 244 रुपये टारगेट प्राइस पर खरीद सकते हैं. वार्षिक (YoY) आधार पर कंपनी के परिणाम अच्छे दिखते हैं, लेकिन तिमाही (QoQ) आधार पर पर यह वृद्धि दिखाने में विफल रही है. हालांकि, यह करीब 84 फीसदी के ऑपरेटिंग मार्जिन के साथ विकास की ओर बढ़ रही है.

ये भी पढ़ें- हिंदुस्तान यूनिलीवर के शेयर खरीदे, बेचें या होल्ड करें, निवेशकों के लिए ये है प्रमुख ब्रोकरेज हाउस की राय

कर्ज मुक्त कंपनी

कंपनी का कर्ज मुक्त होना कंपनी और निवेशकों के लिए अच्छा है. हेम सिक्योरिटीज के सीनियर रिसर्च एनालिस्ट आस्था जैन ने कहा, “इंडियन एनर्जी एक्सचेंज के शेयर में गिरावट कम समय के लिए है, कंपनी ने तिमाही आधार पर डी-ग्रोथ की सूचना दी है, अगर हम 6 करोड़ रुपये की एक्सेप्शनल इनकम को छोड़ देते हैं

1 रुपये का डिविडेंड

इंडियन एनर्जी एक्सचेंज के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स ने 31 मार्च, 2022 को समाप्त हुए वित्तीय वर्ष के लिए प्रति इक्विटी शेयर 1 रुपये के फाइनल डिविडेंड की सिफारिश की है. इसका भुगतान आगामी एनुअल जनरल मीटिंग (AGM) में शेयरहोल्डर्स की मंजूरी की तारीख से 30 दिनों के भीतर किया जाएगा. बता दें कि देश के इस पावर एक्सचेंज कंपनी की बाजार में 90 फीसदी हिस्सेदारी है.


(Disclaimer: यहां बताया गया स्‍टॉक ब्रोकरेज हाउसेज की सलाह पर आधारित है. यदि आप इसमें आप पैसा लगाना चाहते हैं, तो पहले सर्टिफाइड इनवेस्‍टमेंट एडवायजर से परामर्श कर लें. आपके किसी भी तरह के लाभ या हानि के लिए हमारी वेबसाइट जिम्मेदार नहीं होगी.)

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ