Ticker

99/recent/ticker-posts

मीडिया इंडस्ट्री में अंबानी के बाद अडानी की एंट्री, Amazon और Netflix के लिए नई चुनौती

 

मीडिया इंडस्ट्री में अंबानी के बाद अडानी की एंट्री, Amazon और Netflix के लिए नई चुनौती

एशिया के दो सबसे रईस अरबपति गौतम अडानी और मुकेश अंबानी अब मीडिया इंडस्ट्री में अपना वर्चस्व बढ़ाने में जुटे हैं। मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज तो लंबे समय से मीडिया इंडस्ट्री में है लेकिन गौतम अडानी के अडानी समूह की नई-नई एंट्री हुई है। 
मीडिया इंडस्ट्रीज में अडानी की एंट्री: दरअसल, अडानी समूह की कंपनी अडानी एंटरप्राइजेज लिमिटेड ने AMG Media Network के साथ मीडिया इंडस्ट्री में कदम रखा है। अडानी एंटरप्राइजेज की सब्सिडरी कंपनी जल्द ही मीडिया से संबंधित गतिविधियों में अपना कारोबार शुरू करेगी। इसी साल मार्च माह में अडानी समूह ने राघव बहल के मीडिया वेंचर क्विंटिलियन बिजनेस मीडिया प्राइवेट लिमिटेड (क्यूबीएम) में अल्पांश हिस्सेदारी ली है। ये ब्लूमबर्गक्विंट नाम के डिजिटल न्यूज प्लेटफॉर्म का संचालन करती है।
अंबानी का नया दांव: इस बीच, जेम्स मर्डोक की बोधि ट्री सिस्टम्स और स्टार एंड डिज्नी इंडिया के पूर्व चेयरमैन उदय शंकर ने वायकॉम 18 में निवेश करने की घोषणा की है। यह निवेश उद्योगपति मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस के साथ त्रिपक्षीय भागीदारी के तहत किया जा रहा है। इससे देश में सबसे बड़ी टीवी और डिजिटल स्ट्रीमिंग कंपनियों में से एक अस्तित्व में आएगी।
संबंधित खबरें
रिलायंस का कितना निवेश: भागीदारी के तहत रिलायंस इंडस्ट्रीज की पूर्ण स्वामित्व वाली सब्सिडरी रिलायंस प्रोजेक्ट्स एंड प्रॉपर्टी मैनेजमेंट सर्विसेज लिमिटेड (आरपीपीएमएसएल) 1,645 करोड़ रुपये का निवेश करेगी। इसके साथ जियोसिनेमा ओटीटी ऐप को वायकॉम18 में स्थानांतरित कर दिया जाएगा। आरपीपीएमएसएल टेलीविजन, ओटीटी, डिस्ट्रिब्यूशन, कंटेंट क्रिएशन और प्रोग्राम तैयार करने के क्षेत्र में काम करती है।

अमेजन और नेटफ्लिक्स के लिए चैलेंज: अंबानी का नया निवेश और मीडिया में अडानी का प्रवेश लोकल बनान ग्लोबल की जंग के संकेत दे रहा है। हालांकि, यह इतना आसान नहीं है। यहां पहले से ही नेटफ्लिक्स और अमेजन अपनी मजबूत उपस्थिति बनाए हुए हैं। वहीं, ग्राहकों को रिझाने के लिए ये कंपनियां तरह-तरह के हथकंड़े भी अपना रही हैं। मसलन, नेटफ्लिक्स ने हाल ही में सब्सक्रिप्शन प्लान में बदलाव किया है। वहीं, अमेजन ने भी आईपीएल प्रसारण अधिकार के लिए बोली लगाकर प्राइम के विस्तार की योजना बनाई है। 

आईपीएल के अधिकार के लिए भी जंग: हालांकि, इंडियन प्रीमियर लीग यानी आईपीएल के प्रसारण अधिकार पाने के लिए अमेजन और रिलायंस सरीखी कंपनियां रेस में हैं। अमेजन मीडिया राइट्स को लेकर अपनी प्राइम सर्विस का विस्तार करना चाहती है। वहीं, रिलायंस जियो टीवी को सफलता की नई ऊंचाई पर ले जाना चाहती है। भारत में आईपीएल का एकमात्र लाइव स्ट्रीमिंग मंच ‘डिजनी प्लस हॉटस्टार’ है।  

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ