Ticker

99/recent/ticker-posts

LIC के बारे में अच्छी बाते तो आपने जान ली.....अब कुछ निगेटिव फैक्ट्स भी जान लीजिए

 

LIC के बारे में अच्छी बाते तो आपने जान ली.....अब कुछ निगेटिव फैक्ट्स भी जान लीजिए

एलआईसी के बारे में एक दूसरी फिक्र की बात यह है कि डिजिटल प्लेटफॉर्म पर इसकी मजबूत मौजूदगी नहीं है। इसकी 90 फीसदी पॉलिसीज एजेंट्स के जरिए बेची जाती हैं।

LIC का आईपीओ अगले हफ्ते खुल जाएगा। ज्यादातर एनालिस्ट्स ने इस इश्यू में पैसे लगाने की सलाह दी है। उनका मानना है कि दूसरी इश्योरेंस कंपनियों के मुकाबसे एलआईसी की वैल्यूशन कम लगाई गई है। आनंद राठी, रेलिगेयर ब्रोकिंग, मारवाड़ी फाइनेंशियल सर्विसेज और सैमको सिक्योरिटीज ने इस इश्यू को सब्सक्राइब करने का सेजशन दिया है।

कुछ एनालिस्ट्स ने इस इश्यू में इनवेस्टमेंट से जुड़े रिस्क की तरफ भी इनवेस्टर्स का ध्यान दिलाया है। एलआईसी का मार्केट शेयर लगातार घट रहा है। उधर, प्राइवेट इंश्योरेंस कंपनियों का मार्केट शेयर बढ़ रहा है। अभी टोटल लाइफ इंश्योरेंस प्रीमियम के मामले में एलआईसी का मार्केट शेयर 64 फीसदी है। एलआईसी फाइनेशियल ईयर 2015-16 से 2020-21 के दौरान यह 6 फीसदी कंपाउंडेड एनुअल ग्रोथ रेट (CAGR) से बढ़ी है। इसके मुकाबले प्राइवेट इंश्योरेंस कंपनियों की ग्रोथ 18 फीसदी सीएजीआर रही है।

एलआईसी ने यह बात मानी है कि कई बार इसे सरकार के निर्देश के तहत ऐसे कदम उठाने पड़ते हैं जो शेयरहोल्डर्स के इंटरेस्ट में नहीं होते हैं। एलआईसी ने 2018 में भारत डायनेमिक्स और हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स के आईपीओ को फेल करने से बचाया था। एलआईसी ने आईडीबीआई बैंक को भी खरीदकर इसकी नाव पार लगाने की कोशिश की थी।

आईडीबाई बैंक की हालत डूबा कर्ज बहुत ज्यादा बढ़ जाने से बहुत खराब हो गई थी। इसमें 51 फीसदी हिस्सेदारी खरीदने के लिए एलआईसी ने 21,600 करोड़ रुपये खर्च किए थे। फिर, 2019 में उसने इस बैंक में और 4,743 करोड़ रुपये इनवेस्ट किया था।

एलआईसी के बारे में एक दूसरी फिक्र की बात यह है कि डिजिटल प्लेटफॉर्म पर इसकी मजबूत मौजूदगी नहीं है। इसकी 90 फीसदी पॉलिसीज एजेंट्स के जरिए बेची जाती हैं। ड्राफ्ट पेपर से यह जानकारी मिलती है कि सिर्फ 36 फीसदी इंडिविजुअल रिन्यूअल प्रीमियम डिजिटल मोड से पे किए गए। प्राइवेट बीमा कंपनियों के मामले में यह 90 फीसदी से ज्यादा है। एनालिस्ट्स का कहना है कि अगर यह ट्रेंड जारी रहता है तो एलआईसी की कास्ट में इजाफा होगा।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ