Ticker

99/recent/ticker-posts

Cryptocurrency से रिकॉर्ड तोड़ कमाई

 

Cryptocurrency से रिकॉर्ड तोड़ कमाई

CRYPTOCURRENCY से कमाई के मामले में भारत 21वें स्थान पर है। भारतीय यूजर्स ने साल 2021 में इस डिजिटल एसेट क्लास की मदद से 1.85 बिलियन डॉलर कमाए हैं। यह भारतीय मुद्रा में करीब 14 हजार करोड़ रुपये बनते हैं।

Cryptocurrency अभी भी एक नए इंवेस्टमेंट क्लास की तरह देखी जाती है। क्रिप्टो इंवेस्टमेंट रिस्की हैं, लेकिन इनमें मुनाफा भी बहुत ज्यादा है। डेटा एनालिटिक्स फर्म Chainalysis के मुताबिक, पिछले साल क्रिप्टो इंवेस्टर्स का मुनाफा करीब 400 प्रतिशत बढ़ा है। 
इसके साथ ही यह रिपोर्ट बताती है कि यूजर्स की क्रिप्टो कमाई में Ethereum का सबसे बड़ा योगदान रहा है। इस क्रिप्टोकरेंसी ने कमाई के मामले में Bitcoin को पीछे छोड़ दिया है। आइए इस सब के बारे में डिटेल में जानते हैं।
Chainalysis की रिपोर्ट के मुताबिक, दुनिया भर के क्रिप्टो इंवेस्टर्स ने साल 2021 में 162.7 बिलियन डॉलर का मुनाफा कमाया है। भारतीय मुद्रा में यह रकम करीब 12 लाख करोड़ रुपये बनते हैं। साल 2020 में यह मुनाफा सिर्फ 32.5 बिलियन डॉलर या 2.5 लाख करोड़ रुपये था। इसके हिसाब से साल 2021 में क्रिप्टो इंवेस्टर्स का मुनाफा 5 गुना बढ़ गया है। प्रतिशत के हिसाब से यह 400 फीसदी की बढ़त है।


किस देश के यूजर्स ने कमाया कितना पैसा

रिपोर्ट के मुताबिक, साल 2021 में क्रिप्टो से कमाई के मामले में अमेरिकी यूजर्स सबसे आगे रहे। इन्होंने इस एसेट से कुल 47 बिलियन डॉलर की कमाई की है। साल 2020 में यह कमाई 8.1 बिलियन डॉलर थी, जिसकी वजह से सालाना बढ़त करीब 476 प्रतिशत बनती है।

Cryptocurrency से कमाई के मामले में अमेरिका के बाद UK, जर्मनी, जापान और चीन के इंवेस्टर्स आते हैं। एक साल में UK इंवेस्टर्स की कमाई 431 प्रतिशत और जर्मनी इंवेस्टर्स की कमाई 423 प्रतिशत बढ़ी है।

चीन के इंवेस्टर्स की कमाई 2021 में 194 प्रतिशत बढ़ी है, जो लिस्ट के बाकी देशों के मुकाबले काफी कम है। साल 2021 में देश के इंवेस्टर्स ने 5.1 बिलियन डॉलर क्रिप्टो से कमाए। 2020 में यह आंकड़ा 1.7 बिलियन डॉलर था। Chainalysis के मुताबिक, चीन की कम ग्रोथ रेट की वजह देश में क्रिप्टो ऐक्टिविटी की गिरावट है, जो सरकार के क्रिप्टो क्रैकडाउन के बाद सामने आई।

Cryptocurrency से कमाई के मामले में भारत 21वें स्थान पर है। भारतीय यूजर्स ने साल 2021 में इस डिजिटल एसेट क्लास की मदद से 1.85 बिलियन डॉलर कमाए हैं। यह भारतीय मुद्रा में करीब 14 हजार करोड़ रुपये बनते हैं। क्रिप्टो से कमाई के मामले में छठे नंबर पर तुर्की है, जहां इंवेस्टर्स ने 4.6 बिलियन डॉलर का मुनाफा कमाया।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ